व्यवधान Ajay Amitabh Suman द्वारा कविता में हिंदी पीडीएफ

व्यवधान

Ajay Amitabh Suman Verified icon द्वारा हिंदी कविता

एक फूल का मिट जाना हीं उपवन का अवसान नहीं,एक रोध का टिक जाना हीं विच्छेदित अवधान नहीं । जिन्हें चाह है इस जीवन में स्वर्णिम भोर उजाले की,उन राहों पे स्वागत करते घटाटोप अन्धियारे भी।इन घटाटोप अंधियारों का ...और पढ़े