म्यूजियम में चाँद amitaabh dikshit द्वारा हास्य कथाएं में हिंदी पीडीएफ

म्यूजियम में चाँद

amitaabh dikshit द्वारा हिंदी हास्य कथाएं

“कहते हैं पिछली सदी का चांद इस सदी जैसा नहीं था” एक बोला. “नहीं बिल्कुल ऐसा ही था” दूसरे ने पहले की बात काटी. “तुम्हें कैसे मालूम है” पहले ने पूछा. “मैंने म्यूजियम में देखा था” दूसरे ने बताया. ...और पढ़े