नियति - 11 Seema Jain द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

नियति - 11

Seema Jain मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

शिखा आश्वस्त नहीं थी, वह रोहन के दिल को और टटोलना चाहती थी। लेकिन रोहन के होठ उसके गालों को चूमते हुए उसके कानों तक पहुंच रहे थे। उसकी बाहें कसती जा रही थी और शिखा का दिल अपना ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प