मासूम बच्चों का क्या क़सूर bhai sahab chouhan द्वारा रोमांचक कहानियाँ में हिंदी पीडीएफ

मासूम बच्चों का क्या क़सूर

bhai sahab chouhan द्वारा हिंदी रोमांचक कहानियाँ

क्या लिखूँ, क्या बताऊ, कुछ समझ नहीं आताजब नजरें जाती उन मासूम बच्चों परजो पढ़ना तो चाहते हैं पर पढ़ नहीं पातेइन ज़ालिम पैसो कि वजह से..जब देखता हु उनको सुनसान सड़कोपर हाथ मे कटोरा भीख मांगते हुये,मानो कतरा ...और पढ़े