मज़ार का दीया Neetu Singh Renuka द्वारा सामाजिक कहानियां में हिंदी पीडीएफ

मज़ार का दीया

Neetu Singh Renuka मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी सामाजिक कहानियां

ओमकार को अंदाज़ा हो गया था कि दिव्या ने कहीं कुछ रुपए छुपाए ज़रूर हैं वरना शेफाली को डॉक्टर के पास कैसे ले गई। डॉक्टर ने कुछ न कुछ फीस तो ज़रूर ली होगी। ओमकार ने पहले तो नज़रों ...और पढ़े