गलती किसकी? Neetu Singh Renuka द्वारा रोमांचक कहानियाँ में हिंदी पीडीएफ

गलती किसकी?

Neetu Singh Renuka मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी रोमांचक कहानियाँ

उफ्‌ इतनी गर्मी में ट्रेन खड़ी कर दी। आदमी, आदमी की तरह नहीं भेड़-बकरी की तरह ठूँसा पड़ा है, एकदम दम साधे कि अपना-अपना स्टेशन आए और मुक्ति मिले, फिर शाम की, शाम को देखी जाएगी। सुबह-सुबह ही इतना ...और पढ़े