आफ़िया सिद्दीकी का जिहाद - 20 Subhash Neerav द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

आफ़िया सिद्दीकी का जिहाद - 20

Subhash Neerav मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

इस्मत और फौज़िया अपने घर तक सीमित होकर रह गई थीं। वे भयभीत-सी किसी के साथ आफिया को लेकर बात भी नहीं करती थीं। इसके अलावा उनके घर की आई.एस.आई. निगरानी करती रहती थी। कभी उन्हें गुप्त फोन आते ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प