फाहा Saadat Hasan Manto द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

फाहा

Saadat Hasan Manto Verified icon द्वारा हिंदी लघुकथा

गोपाल की रान पर जब ये बड़ा फोड़ा निकला तो इस के औसान ख़ता हो गए। गरमियों का मौसम था। आम ख़ूब हुए थे। बाज़ारों में, गलियों में, दुकानदारों के पास, फेरी वालों के पास, जिधर देखो, आम ही ...और पढ़े