नवाब सलीमुल्लाह ख़ान Saadat Hasan Manto द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

नवाब सलीमुल्लाह ख़ान

Saadat Hasan Manto मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

नवाब सलीम अल्लाह ख़ां बड़े ठाट के आदमी थे। अपने शहर में इन का शुमार बहुत बड़े रईसों में होता था। मगर वो ओबाश नहीं थे, ना ऐश-परस्त, बड़ी ख़ामोश और संजीदा ज़िंदगी बसर करते थे। गिनती के चंद ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प