नादान दिल - 2 Divya Sharma द्वारा उपन्यास प्रकरण में हिंदी पीडीएफ

नादान दिल - 2

Divya Sharma मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी उपन्यास प्रकरण

पता नहीं क्या सुलग रहा था उसके अंदर।वह खामोशी से वैन की खिड़की से बाहर देखने लगी।कुछ दूरी पर कुछ बच्चों भीड़ में शूटिंग देखने के लिए खडे नजर आए।उन्हें निहारती मेघना को जैसे कुछ याद आया और वह ...और पढ़े