स्वाभिमान - लघुकथा - 7 vinod kumar dave द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

स्वाभिमान - लघुकथा - 7

vinod kumar dave द्वारा हिंदी लघुकथा

सभी के लिए बात इतनी सी ही थी लेकिन सुशांत के लिए यह जीने मरने का सवाल था। ऊपर से सख्त आदेश था, भुगतान की फ़ाइल अटकनी नहीं चाहिए किसी हालत में, उसे उसका हिस्सा मिल जाएगा। लेकिन हिस्सा ...और पढ़े