पाँचवाँ कप Neetu Singh Renuka द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

पाँचवाँ कप

Neetu Singh Renuka मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

गुलाबी फूल और हरी पत्तियों वाले इस बोन चाइना के कप को ख़रीदते वक़्त कभी नहीं सोचा था कि यह टूट भी सकता है। कोई नहीं सोचता। कौन सोचेगा भला कि खरीदा जा रहा नाज़ुक सा कप टूट सकता ...और पढ़े