सत्य हरिश्चन्द्र - 1 Bhartendu Harishchandra द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

सत्य हरिश्चन्द्र - 1

Bhartendu Harishchandra मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

अथ सत्यहरिश्चन्द्र (मंगलाचरण) सत्यासक्त दयाल द्विज प्रिय अघ हर सुख कन्द। जनहित कमला तजन जय शिव नृप कवि हरिचन्द1 ।। 1 ।। (नान्दी के पीछे सूत्राधार2 आता है)

अन्य रसप्रद विकल्प