बेताल पच्चीसी - 25 Somadeva द्वारा लघुकथा में हिंदी पीडीएफ

बेताल पच्चीसी - 25

Somadeva मातृभारती सत्यापित द्वारा हिंदी लघुकथा

योगी राजा को और मुर्दे को देखकर बहुत प्रसन्न हुआ। बोला, हे राजन्! तुमने यह कठिन काम करके मेरे साथ बड़ा उपकार किया है। तुम सचमुच सारे राजाओं में श्रेष्ठ हो। इतना कहकर उसने मुर्दे को उसके कंधे ...और पढ़े

अन्य रसप्रद विकल्प