×

लेख ओनलाईन किताबें पढ़ें अथवा हमारी ऐप डाऊनलोड करें

    प्रेम - मैंने देखा है
    by Shivani Mishra
    • (0)
    • 11

    पता है जब आप प्रेम में होते हो तो बहुत कुछ करते हो एक दूसरे के लिए पर कुछ वक्त बाद जब प्रेम थोड़ा सा पुराना हो जाये तो ...

    कब तक ?
    by Ritu Dubey
    • (4)
    • 114

    कुछ सवाल ऐसे है जिनके उत्तर हम सब जानते है फिर भी अनजान बने रहते है ...

    प्यारी दोस्त - 1
    by Nirmal
    • (3)
    • 111

    मेरी दोस्त मुझसे नाराज़ थी , हा मेरी दोस्त कंजूस(दोस्त को कंजूस की उपमा) मुझसे नाराज़ थी। उसकी बात करू तो अब तक की मेरी सबसे अच्चीदोस्त ।       ...

    थकावट, अकेलापन और तनाव से निपटने के लिए एक सरल विधि।
    by Rakesh Sharma
    • (2)
    • 61

    “मुझे पता चला कि जब मैंने अपने विचारों पर विश्वास किया था, तो मुझे पीड़ा हुई, लेकिन जब मैंने उन पर विश्वास नहीं किया, तो मुझे पीड़ा नहीं हुई, ...

    लक्ष्य
    by Rudra
    • (6)
    • 77

    Book Title - ? Book Author - रूद्र नमस्ते, मेरा नाम रूद्र है । धन्यवाद !! आप सभी का मुझे इतना प्यार देने के लिए, IMRrudra की सोच को ...

    उजड़ता आशियाना - अनकही दास्तान - 5
    by Mr Un Logical
    • (0)
    • 41

    वह एक थकी हुई सी शाम थी,हर तरफ खामोशी फैली हुई थी।लग रहा था जैसे कोई तूफान गुजरा था।जिसके द्वारा किये गये बर्बादी पर मातम मनाया जा रहा हो।कई ...

    मंजिल और रास्ते
    by Rudra
    • (6)
    • 79

    Book Title – एक ख़ूबसूरत सफर By IMRudra Author – Rudra Book Description - मंजिल की ख़ुशी से ज्यादा अधिक ख़ूबसूरत वो सफर होता है जिस पर चलकर आप ...

    “इश्क़ होना जरुरी है”
    by Rudra
    • (3)
    • 85

      Title - “इश्क़ होना जरुरी है”   Author – Rudra Presented by – IMRudra – The Life Coach Content Writer – Rudra            About The Author ...

    उजड़ता आशियाना - जीवन पथ - 4
    by Mr Un Logical
    • (2)
    • 60

    किसी ने क्या खूब कहा है।जन्म हुआ तो मैं रोया और लोग हँसे, मौत आयी तो सब रोये मैं चैन से सोता रहा।ऊँची नीची जीवन पथ पर चलते चलते, ...

    फेक न्यूज़ के खतरें हज़ार
    by Yashwant Kothari
    • (2)
    • 53

    फेक न्यूज़ याने झूठीं ख़बरों के  बड़े  खतरे                             यशवंत कोठारी फेक न्यूज़ के खतरे सर पर चढ़ कर बोलने लगे हैं. क्या सरकार ,क्या पार्टियाँ और क्या चुनाव ...

    उजड़ता आशियाना - पतझड़ - 2
    by Mr Un Logical
    • (1)
    • 73

    आज बहुत दिनों के बात एक सुहानी शाम को कुछ फुरसत के पल मिले थे।ऐसा लग रहा था जैसे हम कितने दूर निकल गए,और बहुत कुछ पीछे छूट गया ...

    तीसरी उम्र के लिए तैयारी
    by r k lal
    • (15)
    • 120

    तीसरी उम्र के लिए तैयारी तीसरी उम्र लगभग 55और 80 की उम्र के बीच की मानी जाती है जो आम तौर पर सेवानिवृत्ति से थोडा पहले से ही शुरू हो ...

    आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विश्व महाशक्ति – किसका नेतृत्व, कौन दावेदार
    by Utpal Chakraborty
    • (2)
    • 47

    लेखक - उत्पल चक्रबोर्ती हिंदी सह-लेखक - रोहित शर्मा आज सम्पूर्ण विश्व में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (ए.आई.) का डंका जोरों शोरों से बज रहा है, कंप्यूटर साइंस की इस विधा ...

    जीवन की खीज से निपटने के लिए एक मंत्र।
    by Rakesh Sharma
    • (3)
    • 45

    जब में ये लिख रहा हु, मेरी एक बहस हुई है, दिन की सुरुवात में, नींद की कठिनाइय, जीवन में बदलाव, एक कार्यभार जो बहुत अधिक है। जैसा कि ...

    उजड़ता आशियाना
    by Mr Un Logical
    • (5)
    • 82

    अनहोनी की निशानी होती है कि हमें अंदाजा नहीं होता,और जो हो जाता फिर उस से उबरने के कोई रास्ता नहीं होता।लेकिन अक्सर जिसे हम अनहोनी कहते या समझते है ...