हिंदी पौराणिक कथा किताबें और कहानियां मुफ्त पीडीएफ

    दोषी कौन
    by Ajay Kumar Awasthi
    • (0)
    • 37

    कितना सुंदर और प्रिय था सब कुछ । हर दिन मानो नया संदेश लेकर आता । उमंग और उल्लास।भरा होता अहल्या के रोम रोम में । ऋषि पत्नी अहल्या ...

    नागिन (भाग - 4)
    by HARSH SHAH
    • (11)
    • 213

    नागिन (भाग - 4)"आदित्य उस दिन शिखा और विक्रांत को अपने साथ महेल में लेके आता है। आदित्य शिखा के सामने रानी बननेका का प्रस्ताव रखता है। शिखा उसी ...

    आत्मा का राज़
    by Ravi kumar bhatt
    • (39)
    • 531

     बहुत समय पहले एक राजा था  उसे एक ऋषि का वरदान था की वह मृत व्यक्ति की आत्मा को शरीर से निकलते हुए देख सकता है परंतु ऋषि ने चेतावनी ...

    महाभारत का नायक कौन?
    by Ajay Amitabh Suman
    • (37)
    • 493

    आपके सामने जब भी प्रश्न पूछा जाता है कि महाभारत का नायक कौन है? तो आपके सामने अनेक  योद्धाओं के चित्र सामने आने लगते हैं। कभी आपके सामने  कृष्ण तो कभी भीम, कभी अर्जुन के ...

    युद्ध वर्णन - चक्रव्यूह
    by Himanshu Singh
    • (26)
    • 570

    चक्रव्यूह ============================= अभिमन्यु को देखा ऐसा लग रहा था मानो स्वयं कामदेव ने पुष्पबाण छोडकर कालदंड धारण कर लिया हो अथवा महादेव पिनाक धारण करके रथ पर बैठ चले ...

    गार्गी एवं याज्ञवल्क्य संवाद
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (15)
    • 778

    हो सके। गार्गी तथा याज्ञवल्क्य संवाद ब्रह्म को समझने में हमारी सहायता करता है। सभी वस्तुएं ब्रह्म से उत्पन्न होकर उसी में लीन हो जाती हैं। वेदों में इसी परम ...

    उर्वशी और पुरुरवा
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (64)
    • 1.9k

    प्रेम और बिछोह की अनगिनत कहानियां हमारे साहित्य में हैं। लेकिन सबसे प्राचीन कहानी है उर्वशी और पुरुरवा की जिसका वर्णन ऋगवेद में भी मिलता है। पुरुरवा और उर्वशी ...

    श्रेष्ठ नर्तकी कौन
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (11)
    • 553

    यह कथा एक बहुत ही महत्वपूर्ण संदेश देती है। गुण एवं शक्ति में एक समान होते हुए भी जीवन में वही सफल होता है जो तनावपूर्ण स्थिति में भी ...

    ऋषि उद्दालक एवं श्वेतकेतु
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (7)
    • 564

    ऋषि उद्दालक एवं श्वेतकेतु की यह कथा एक पिता व पुत्र के बीच हुए संवादों के माध्यम से ब्रह्म के गूढ़ ज्ञान को बहुत आसान व तीर्किक तरीके से ...