हिंदी डरावनी कहानी किताबें और कहानियां मुफ्त पीडीएफ

    हमें भूत देखना है।
    by Vijit Sharma
    • (44)
    • 403

    सन 2017 का अक्टूबर का महीना चल रहा था वातावरण में हल्की हल्की ठंड शुरू हो गई थी। इस हल्की-हल्की ठंडे वातावरण में स्कूली बच्चे आपस में हंसी मजाक ...

    The Seven Doors - 5
    by Sarvesh Saxena
    • (20)
    • 239

    कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा एंजेल, रशेल और ब्रैवो तीसरे दरवाजे यानी खौफनाक जानवरों की दुनिया में जंगली जानवरों से लड़ते हुए चौथे दरवाजे तक पहुंच जाते ...

    छलावा
    by Roshan Jha
    • (38)
    • 323

    हेलो दोस्तों मेरा नाम दीपक है और आज मैं अपनी जिंदगी से जुड़ा हुआ एक डरावना किस्सा अपासे कहने जा रहा हूं यह किस्सा कुछ ऐसा है जिसे मैं ...

    ROYAL COLLEGE 1992 - 2
    by Urvil V. Gor
    • (29)
    • 435

    पिछले पार्ट में देखा कि केसे कॉलेज के ग्राउंड में फुटबॉल गोलपोस्ट के उपर एक लाश लटकती मिली। ओर अभि रोनाल्ड ओर रॉनी को छोड़ कर सब होटल ग्रीन ...

    जिन की मोहब्बत... - 15
    by Sayra Khan
    • (68)
    • 485

    आप लोग अपना ख्याल रखना ज़ीनत से कहा अम्मी को किसी चीज की परेशानी ना हो ये तुम्हारी ज़िम्मेदारी है ।शान घर से निकल गया पूरा दिन ज़ीनत बे ...

    हिमाद्रि - 21
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (47)
    • 411

                        हिमाद्रि(21)अगले दिन उमेश फिर अपने बचे हुए सवालों के साथ डॉ. गांगुली के क्लीनिक पर मौजूद था। उसके कुछ ...

    The Seven Doors - 4
    by Sarvesh Saxena
    • (25)
    • 467

    कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा की एंजेल और रशेल ब्रैवो के साथ दूसरे दरवाजे यानी बर्फीली दुनिया में प्रवेश कर जाते हैं, जहां उन्हें बर्फीला परिवार कैद ...

    हिमाद्रि - 20
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (40)
    • 345

                       हिमाद्रि(20)उमेश परेशान हाल घर पहुँचा तो उसे देख कर दुर्गा बुआ भी घबरा गईं। वह फौरन पानी लेकर उसके पास ...

    जिन की मोहब्बत... - 14
    by Sayra Khan
    • (71)
    • 639

    कुछ दिन से ज़ीनत से दूर हो कर बहुत बेचेन ओर गुस्से में था ।"अब शान ज़ीनत को इस तरह छु रहा था कि ज़ीनत उसे आकर्षित होने लगी ...

    ROYAL COLLEGE - 1992 - 1
    by Urvil V. Gor
    • (54)
    • 769

    चलो दोस्तो अब आज का क्लास ख़तम हुआ अब हम मिलते है 3 महिने के वैकेशन के बाद एन्जॉय करो। इतना बोलते प्रोफेसर राजवीर ने सबको क्लास से जाने ...

    खौफ - 4
    by SABIRKHAN
    • (24)
    • 406

    मास्टर जी कैसे आना हुआ..?अपने इकलौते पुत्र के गुम होने की वजह से चिंता से आधे हो गए मास्टर जी को देख कर ईस्पे. खटपटिया ने कहा!पुत्र के गुम ...

    हिमाद्रि - 19
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (45)
    • 350

                         हिमाद्रि(19)उमेश ध्यानमग्न बैठा था। डॉ निरंजन उसके पास आकर बोले।"अब आपका यह बंगला प्रेत से मुक्त हो गया है। ...

    हिमाद्रि - 18
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (48)
    • 398

                          हिमाद्रि(18)हिमपुरी और उसके आसपास के गांवों में एक बार फिर दहशत का माहौल था। बीना के अतिरिक्त तीन ...

    जिन की मोहब्बत... - 13
    by Sayra Khan
    • (68)
    • 574

    "शान अपनी अम्मी के पास पूरी रात बैठा l उनको सुलाने की कोशिश करता रहा। लेकिन वो इतनी डरी हुई थी कि उनकी आंखो में नींद का नाम नहींl  ...

    हिमाद्रि - 17
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (41)
    • 334

                           हिमाद्रि(17)मगन एक बोरे में छिपा कर घड़ा ले जा रहा था। ताकि किसी की नज़र ना पड़े। वह ...

    The Seven Doors - 3
    by Sarvesh Saxena
    • (16)
    • 313

    कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि एंजल और रशेल जैसे ही कहानी पढ़ना शुरू करते हैं, दूसरी दुनिया में पहुंच जाते है जहां उन्हें एक उदास बुढ़िया ...

    शापित मूर्ति
    by Roshan Jha
    • (50)
    • 432

     मेरा नाम राहुल है और मैं आपको आज एक कहानी बताने जा रहा हूं जो मेरे ही जीवन की एक सच्ची घटना है यह कहानी आज से करीब कुछ ...

    जिन की मोहब्बत... - 12
    by Sayra Khan
    • (64)
    • 482

    "अलीम साहब ने कहा वो साया ज़ीनत से दूर हो कर बहुत गुस्से में हैं।वो किसी भी हद तक जा सकता है आपको दुआए गंजूल "अर्श का वजीफा करना ...

    खौफ - 3
    by SABIRKHAN
    • (36)
    • 446

    तेज धूप बढ़ती जा रहे थी! बदन की त्वचा जल जाए इतनी भयानक आग बरस रही थी! इस जानलेवा धूप में पसीने से तर हुए एक बुड्ढे शख्स ने ...

    हिमाद्रि - 16
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (40)
    • 398

                             हिमाद्रि(16)भारत को आज़ादी मिले ग्यारह साल हो गए थे। जॉर्ज अब तीस वर्ष का हो गया था। जेम्स ...

    हिमाद्रि - 15
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (40)
    • 406

                            हिमाद्रि(15)अंग्रेज़ी राज में भी बहुत से अंग्रेज़ ऐसे थे जो भारत को ही अपना वतन समझते थे। जेम्स ...

    जिन की मोहब्बत... - 11
    by Sayra Khan
    • (64)
    • 520

    जिसे उस अनदेखी ताकत को कुछ दिन दूर रखा जा सकता है।ख़तम नहीं किया जा सकता ! वो बस ज़ीनत से दूर रहेगी उसके करीब नहीं आएगी । उसके हाथ ...

    एलियन का आतंक
    by Roshan Jha
    • (23)
    • 262

    रोहन अपने लैब में काम कर रहा है वह कुछ सैंपल टेस्ट कर रहा है उस सैंपल टेस्ट कर ही रहा था कि तभी उसे सामने से चीफ आते ...

    हिमाद्रि - 14
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (47)
    • 351

                          हिमाद्रि(14)पंडित शिवपूजन जानते थे कि हिमाद्रि ने सदैव छल से काम लिया है। वह छल से ही अपने ...

    The Seven Doors - 2
    by Sarvesh Saxena
    • (37)
    • 413

    कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा एंजेल और रशेल को एक किताब मिलती है जिसके जरिए वो एक अलग दुनिया में आ जाते हैं जहां उन्हें एक बुढ़िया ...

    खौफ - 2
    by SABIRKHAN
    • (43)
    • 478

    तकरीबन 15 दिन से वह ऐसे कमरे में बंद था जो चारों तरफ से पूरी तरह पैक था! उस रूम में सामने की दीवार पर एक बड़ा एलईडी लगा ...

    जिन की मोहब्बत... - 10
    by Sayra Khan
    • (53)
    • 355

    सबने बहुत कहा ज़ीनत आंखे खोलो बेटा यहां कुछ नहीं है वो एक ही बात चिल्ला चिल्ला के बोल रही थी...!इसे मुझे बचाओ इसे भगाओ यहां से मुझे इससे ...

    पुराने बरगद की चुड़ैल - पार्ट १
    by Sonu Samadhiya Rasik
    • (43)
    • 456

    पुराने बरगद की चुड़ैल.....भाग १ गिरीश आज 20 वर्ष बाद अपने गाँव में स्थित अपनी पुश्तैनी हवेली में बापस आया था। वो अपने बच्चों की ज़िद पर यहां समर वेकेशन पर ...

    हिमाद्रि - 13
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (38)
    • 314

                             हिमाद्रि(13)पंडित शिवपूजन ने अपनी आयु के कई साल तंत्र विद्या सीखने में लगाए थे। भूत प्रेत को वश ...

    हिमाद्रि - 12
    by Ashish Kumar Trivedi
    • (39)
    • 349

                        हिमाद्रि(12)बूढ़े को जब होश आया तो दिन निकल चुका था। कुछ क्षण वह अपने आसपास के माहौल को भांपने ...