ROYAL COLLEGE 1992 - 3

पिछ्ले पार्ट में देखा कि अब रिया किताब पढ़ना शुरू कर रही है।

अब आप जो भी पढ़ेंगे वो उस किताब में लिखा हुआ पढ़ेंगे।

करण: एक मिनिट कुछ अजीब सी हवा अा रही है इस रूम में?

वरुण:- नई यार खिड़की खुली है तो हवा तो आएगी ना।

रॉनी:- करे अब स्टार्ट?

करण थोड़ा घबराया हुआ था।

करण:हा करो

अब हम चलते है 1992 ROYAL COLLEGE.

12-7-1992
मेरा नाम दिव्या गुप्ता।मैने रॉयल कॉलेज में न्यू एडमिशन लिया है।मुझे अपनी रोज की क्रिया मेरी बुक में लिखने की आदत है।
मेरी कॉलेज 26 साल पुरानी है।

यहां थोड़ा ओल्ड स्ट्रक्चर भी देखने मिलता है।

मुझे तो यहां शिमला की ठंडी बहुत पसंद आई है।सवेरे कॉलेज के टॉप फ्लोर पर जाके पूरी कॉलेज देखना  ओर ठंडी ठंडी हवाओं का मज़ा उठाना बहोत अच्छा लगता है।

आज पहला दिन था । हमारे कॉलेज के हेड प्रो.रामा ने आज पूरे कॉलेज के बारे मैं बताया।

हमारी कॉलेज में वो सबकुछ सिखाया जा रहा है जो आम कॉलेज में नई सिखाया जाता।

मेरी क्लास के प्रो. के नाम :-
प्रो.विक्रम
प्रो.निशांत
प्रो.ममता
प्रो. निशा
प्रो.मार्टिन
प्रो.विशाल
प्रो. राजवीर

ऐसे ही रिया आगे की किताब पढ़ती गई ओर बाकी ग्रुप के लोग सुनते गए। अब आपको उसी पन्ने पर लेजाएंगे जहा ये कहानी का कुछ क्लू मिलेगा । रिया आगे बढ़ी।

20-8-1992
आज सवेरे सवेरे घने काले बादल छाए हुए है बारिश का मौसम है ओर मुझे बारिश बहुत पसंद है। कॉलेज के हॉल में आज प्रोग्राम रखा हुआ है जिसमें डांस, संगीत,ड्रामा,कॉमेडी ओर बहुत कुछ।

आज मैने बेक स्टेज पर कुछ अजीब हलचल सुनाई दी सारे प्रोग्राम देख रहे थे में वॉश रूम के लिए जब जा  रही थी तभी कोई घुंगरू पहन कर दौड़ रहा हो ऐसा मुझे लगा।
में घबराकर वापिस जल्दी से अपनी जगह आकर बैठ गई।
2-9-1992
आज हमारे ग्रुप के लोग बास्केट बॉल खेल रहे थे तभी चेंजिंग रूम से एक लड़की कि आवाज अा रही थी जैसे कोई उसे परेशान कर रहा है।

हमे लगा कि जाके देखना चाइए ओर हम जैसे ही अंदर गए देखा वहा एक यंत्र पड़ा हुआ था।

हमारे पैरानॉर्मल एक्टिविटी के प्रो.विक्रम ओर प्रो.निशांत को जब पता चला कि यहां कोई यंत्र है उन्होंने तुरंत कुछ बोले बिना वो यंत्र ले लिया ओर चले गए।

15-9-1992
आज बहुत बारिश गिरी है। पूरी कॉलेज का ग्राउंड पानी से भर गया।ओर आज तो क्लास में बैठ कर खिड़की से मस्त बारिश का मज़ा लिया है वहीं ठंडी ठंडी हवाओं के साथ।

क्लास ख़तम होने के बाद में घर के लिए निकली तब कॉलेज की लायब्रेरी से कुछ अजीब आवाज आने लगी जैसे कोई लड़की रो रही हो।

मुझे काफी डर लग रहा था।मैने यह बात  अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर की पर कोई मानने को राज़ी नई था।
मैने यह बात प्रो. को भी बताई पर उन्होंने भी यह कहकर चुप करा दिया कि ये तुम्हारा वहम है।

6-10-1992

आज मेरी कॉलेज कि इंटर एग्जाम थी।अच्छी गई मेरी एग्जाम ओर काफ़ी कुछ गप्पे भी लगा दिए।🤗

मेरा पेपर ख़तम होने के बाद में आपनी सहेली का इंतजार कर रही थी तभी मुझे एक लड़की थोड़ी डरी हुई सी थोड़ी घबराई हुई सी सबसे टॉप फ्लोर से आती दिखी।

हालाकि टॉप फ्लोर पर हमारा हॉल है प्रोग्राम का बस तो फिर वो एग्जाम देने कहा गई थी।
वो सीढ़ियों से नीचे उतर रही थी ओर में उसको देख रही थी तभी मेरी पलके जबकि ओर पता नई कहा गायब हो गई मैने काफी देर तक नीचे आने का इंतजार किया पर वो नई अाई।

आखिर में उपर गई ओर जहा से वो गायब हुई वहा देखा तो बस एक कागज मिला पर वो कुछ अजीब भाषा में लिखा था।
'
मैने डरते डरते घर पर फोन किया ओर बताया की मुझे इस कॉलेज में नई पढ़ना यह कॉलेज भूतिया है।

घर वालो ने मुझे वापिस बुला लिया।
ओर में अभि अपने घर पर हूं अपनी किताब के साथ।

इतना पढ़ते हि रिया चुप हो गई क्यूंकि आगे कुछ नई लिखा था।

सारे लोगो की आंखे फटी की फटी रह गई ये सब सुनकर।

रोनाल्ड: बस इतना ही लिखा है?

रिया: हा पूरी किताब पर बहुत रहस्य रह गया है अभि ।

रॉनी:- हा यार।
तभी आलिया ने जोर से चिल्लाया
आलिया :- आ ...
वरुण:- क्या हुआ ।

आलिया:- मैने अभी वहा उपर कोने में कोई लड़की देखी उपर बैठी हुई थी आत्मा जेसी ।

इतना बोलते ही आलिया गिर पड़ी।
उसके मुंह पर पानी डालकर जगाया ।

रॉनी:- आलिया तुम्हारा वहम होगा ये सब किताब में सुनकर तुझे ऐसा लगा होगा।

करण - नई यार मैने बोला था ना पहले कि यहां अजीब महेसूस हो रहा है।मुझे लगता है आत्मा कॉलेज से इधर अा गई है

इस किताब के साथ।

टीना:- रोनाल्ड ये सब छोड़ कर सीधा घर चलते है यहां सबकी जान को खतरा है।

रिया:- हा चलो चले जाते है।

रोनाल्ड:- हम सिर्फ कल का दिन रुक जाते है हमे इस पहेली को सुलझना होगा तभी पता चलेगा कि असलियत क्या है।

सब मान गए।

ओर इस किताब में जो कागज का जिक्र हुआ है वो शायद अपने पास है वहीं कागज है।

इसका मतलब है जो हमारे साथ हुआ वो दिव्या के साथ 11 साल पहले ही शुरू हो गया था ।

रॉनी:- एक मिनिट अगर यहां लिखा है कि "में अपनी किताब के साथ अपने घर हूं"तो यह किताब रॉयल कॉलेज में केसे अाई?

रोनाल्ड: हा यह में भी सोच रहा हूं।

करण:- कहीं ये दिव्या हमारे साथ कुछ कर तो नई रही है ना? मुझे लगता है दिव्या ही आत्मा है।

ओर आलिया को जो लड़की दिखी शायद वो दिव्या तो नहीं?

वरुण:- क्या यार ऐसा नई लगता मुझे।

टीना:- मेरे पास एक तरकीब है शायद उससे दिव्या के बारे में कुछ पता चल सकता है।

रोनाल्ड:- क्या?

टीना:- हम कॉलेज कि ऑफिस जा कर अगर 1992 की बैच का स्टूडेंट डाटा निकाले तो?

रॉनी:- हा यार यह बहेतर तरकीब है यही करना चाइए हमे।

रोनाल्ड:तो ठीक है कल रात को में ओर रॉनी जाते है ओर तुम लोग को मेसेज करके सब बताता रहूंगा।

करण:- हा ठीक है।

आलिया:- पर पहले इस होटल से निकलते है मुझे बहुत डर लग रहा है ।

रोनाल्ड: एक काम करो आलिया ओर वरुण तुम दोनों दिल्ली के लिए निकलो।

इतना बोलते ही वरुण का फोन बजा।

वरुण ने बात करके फोन काटा।

रॉनी:- क्या हुआ वरुण परेशान लग रहा है।

वरुण:- हा यार मोम को अस्पताल में भर्ती किया है डेड का फोन था दिल्ली बुला रहे है वापिस।

रोनाल्ड:- चलो सामान पेक करो ओर में टिकिट करवा देता हूं तुम दोनों की।

ओर कोई भी जरूरत हो तो कॉल करदेना हम अा जाएंगे वापिस।

वरुण:- नई यार तुम ये पहेली सुलझा कर आना बाहोत महेनत की है में कॉल का वैट करूंगा।

अब वरुण ओर आलिया दिल्ली के लिए निकल गए।

STORY CONTINUE.....

***

रेट व् टिपण्णी करें

Verified icon

Saras 5 दिन पहले

Verified icon

KARAN KUMAR 7 दिन पहले

Verified icon

Sayali Sushil Deshpande 3 सप्ताह पहले

Verified icon

Vivek 3 सप्ताह पहले

Verified icon

sumit lodhiya 3 सप्ताह पहले

शेयर करें