हिंदी आध्यात्मिक कथा कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

बनारस
द्वारा Devendra Kumar Jaiswal

कई बनारसइसे 'बनारस' और 'काशी' भी कहते हैं। हिन्दू धर्म में सर्वाधिक पवित्र नगरों में से एक माना जाता है और इसे अविमुक्त क्षेत्र कहा जाता है। इसके अलावा ...

श्रीमच्छङकराचार्यविरचितं आत्मषटकं
द्वारा Dr. Bhairavsinh Raol

श्रीमच्छङकराचार्यविरचितं आत्मषटकं શ્રીમદ્ શંકરાચાર્ય રચિત આત્મષટકમ્ मनोबुद्ध्यहंकारचित्तानि नाहं न च श्रोत्रजिव्हे न च घ्राणनेत्रे ।न च व्योमभूमिर्न तेजो न वायुः चिदानंदरूपः शिवोऽहं शिवोऽहम् ॥ १ હું (હું એટલે કે ...

अव्यक्तोपनिषत्
द्वारा JUGAL KISHORE SHARMA

अव्यक्तोपनिषत् (अव्यक्तनृसिंहोपनिषत्)(सामवेदीया)स्वाज्ञानासुरराड्ग्रासस्वज्ञाननरकेसरी ।प्रतियोगिविनिर्मुक्तं ब्रह्ममात्रं करोतु माम् ॥ॐ आप्यायन्तु ममाङ्गानि वाक्प्राणश्चक्षुः श्रोत्रमथोबलमिन्द्रियाणि च ॥ सर्वाणि सर्वं ब्रह्मोपनिषदं माहंब्रह्म निराकुर्यां

।।बाल संस्कार।।
द्वारा Dr. Bhairavsinh Raol

बाल संस्कार:शिशु के जन्म से लेकर उसके वयस्क होने तक उसे शिक्षित एवं संस्कारित करना पालन-पोषण या बाल संस्कार (पैरेन्टिंग) कहलाता है।अधिकांश शिशु एवं बालक/बालिका अपने माता-पिता के साथ ...

ब्रह्म का अर्थ व आदि गुरु शंकराचार्य का अद्वैत दर्शन
द्वारा Dr. Bhairavsinh Raol

ब्रह्म का अर्थ व आदि गुुरु शंकराचार्य का अद्वैत दर्शन :वेदों के अनुसार ब्रह्म : ब्रह्मांड शक्ति को वेदों में 'ब्रह्म' कहा गया है। ब्रह्म को आजकल लोग ईश्वर, ...

गिरफ्त
द्वारा Anand Tripathi

जहां से इस कहानी की शुरवात होनी है। वो एक शब्द है जिसका उच्चारण ही आपको गहरे समुद्र तल में धकेल सकता है। गिरफ्त जिसका अर्थ है बंधन , ...

मज़बूरी का नाम
द्वारा destiny patel

आखिर क्यों कहते हैं मज़बूरी का नाम महात्मा गाँधी। आपने किसी न किसी को ये कहते हुए जरूर सुना होगा “मजबूरी का नाम महत्मा गाँधी ” आज मैं आपको ...

श्री दुर्गा सप्तशती का महत्व-श्री ललिता प्रसाद शास्त्री दतिया
द्वारा ramgopal bhavuk

श्री दुर्गा सप्तशती का महत्व ललिता प्रसाद शास्त्री आचार्यराजराजेश्वरी पीठ दतिया मध्यप्रदेश ललिता परसाद शास्त्री वर्तमान में देह रूप में नहीं है, लेकिन वे माँ भगवती के बड़े साधक ...

धर्मो रक्षति रक्षितः।
द्वारा Dr. Bhairavsinh Raol

धर्म एव हतो हन्ति धर्मो रक्षति रक्षितः अर्थात , जो धर्म की रक्षा करते करते हैं (रक्षितः), धर्म (धर्मो) उनकी रक्षा करता है( रक्षति ). आस्थावान हैं, विश्वासी हैं, ...

राधा के मोहन
द्वारा Damini

ये कथा है क्षीर सागर में बैठे विष्णु भगवान के आठवें अवतार की।भगवान कृष्ण ने वासुदेव तथा देवकी के पुत्र के रूप में जन्म लिया। वहीं भगवान अपने सातवे ...

मेरी भैरवी - 10 - रहस्यमय तांत्रिक उपन्यास - मायावी जंगल
द्वारा निखिल ठाकुर

माया के द्वारा मेरी जान बचाने के बाद मैं भी सतर्क हो गया था और माया के साथ ही पास की झाड़ियों में छिप गया। उस घनघोर अंधेंरे में ...

अध्यात्मिक जीवन...
द्वारा Saroj Verma

“विचार व्यक्तित्त्व की जननी है, जो आप सोचते हैं बन जाते हैं”-- स्वामी विवेकानन्द.. आध्यात्मिक जीवन एक ऐसी नाव है जो ईश्वरीय ज्ञान से भरी होती है,यह नाव जीवन ...

युधिष्ठिर का धर्म – १
द्वारा SANJIV PODDAR

" क्यों की मुझे दुर्योधन के धर्म की नहीं अपने धर्म की रक्षा करनी है " धृत क्रीड़ा में दुर्योधन और शकुनि के छल से पराजित होने के बाद ...

एडजस्ट एवरीव्हेर
द्वारा Dada Bhagwan

‘ एडजस्ट एवरीव्हेर’ इतना ही शब्द यदि आप जीवनमें उतार लेंगे तो बहोत हो गया | आपको शांति अपनेआप मिल जायेगी | प्रथम छह मास तक मुश्केली आयेगी | ...

भक्ति माधुर्य - 9 - अंतिम भाग
द्वारा Brijmohan sharma

9 ऐक अंगेज पुलिस आफिसर को उपदेश,रमण महर्षि 2महर्षि अनेक वर्षों से विरूपाक्ष गुफा में ध्यान में लीन थे | एक दिन एक अंग्रेज पुलिस ऑफिसर को महर्षि मुंबई ...

श्री शिव रूद्राष्टकम
द्वारा Jatin Tyagi

नमामीशमीशान निर्वाण रूपं, विभुं व्यापकं ब्रह्म वेदः स्वरूपम् ।निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहं, चिदाकाश माकाशवासं भजेऽहम् ॥ निराकार मोंकार मूलं तुरीयं, गिराज्ञान गोतीतमीशं गिरीशम् ।करालं महाकाल कालं कृपालुं, गुणागार संसार ...

भक्ति माधुर्य - 8
द्वारा Brijmohan sharma

8 रसखान महाअम्रत  रसखान एक मुस्लिम कवि थे किन्तु कृष्ण प्रेम में लीन होकर उन्होने जो कविताएं लिखी हैं वे काव्यजगत की अनुपम धरोहर है। हम उनकी भगवान कृष्ण ...

भक्ति माधुर्य - 7
द्वारा Brijmohan sharma

7सूरदास – भक्ति रस परम माधुर्य  अब हों नाच्यौ बहुत गोपाल। काम क्रोध कौ पहिरि चोलना, कंठ विषय की माल॥ महामोह के नूपुर बाजत, निन्दा सब्द रसाल। भरम भरयौ ...

भक्ति माधुर्य - 6
द्वारा Brijmohan sharma

6 सूरदास की सुंदरतम कवितामहाभक्त कवि सूरदास ने जन्मांध होने के बावजूद भगवान कृष्ण के नखशिख रुपमाधुर्य का बड़ा सुन्दर वर्णन किया है। उनकी एक सुंदर रचना का आनंद ...

भक्ति माधुर्य - 5
द्वारा Brijmohan sharma

5 “सुतीक्ष्ण मुनि”अरण्यकाड का “सुतीक्ष्ण मुनि “ अत्यंत मधुर सर्वश्रेष्ठ प्रसंग, “ॠषि अगस्त्य कर शिष्य सुजाना .... निज आश्रम पर आनि करि पूजा विविध प्रकार ।“ जब मुनि सुतीक्ष्ण ...

भक्ति माधुर्य - 4
द्वारा Brijmohan sharma

4 हनुमान विभीषणरामायण ( महा अमृत ) के सुंदरकांड में एक प्रसंग हनुमान विभीषण प्रथम मिलन भक्तिभाव से ओतप्रोत एक बड़ा सुन्दर प्रसंग है | हनुमान सीता की खोज ...

भक्ति माधुर्य - 3
द्वारा Brijmohan sharma

3 राम सुग्रीवरामायण का यह प्रसंग अत्यंत मधुर भक्तिभाव से पूर्ण अमृत है | ( रामायण महाअमृत) महाकाव्य रामायण का एक अन्य बड़ा सुंदर प्रसंग " राम सुग्रीव प्रथम ...

सीता पर लांछन क्यों लगा ??
द्वारा गायत्री शर्मा गुँजन

राम और सीता धर्म की मूर्ति थे यह तो पूरी अयोध्या और रघुकुल में विख्यात था। । प्रश्न यह है कि रामराज्य जैसी सुंदर अयोध्या नगरी में मंगल ही ...

भक्ति माधुर्य - 2
द्वारा Brijmohan sharma

2राम हनुमान प्रथम मिलनयह प्रसंग रामायण का अत्यंत ही मधुर अमृतमय प्रसंग है | “ आगे चले बहुरि रघुराया .... रूप स्वामि भगवंत |” ( श्किन्धाकांड ) जब राम ...

भक्ति माधुर्य - 1
द्वारा Brijmohan sharma

ब्रजमोहन शर्मा   समर्पण : भगवान शिव के श्री चरणों में यह पुष्प समर्पित ॐ नमः शिवाय   भूमिका, मित्रों, मैंने प्रस्तुत ग्रन्थ भक्ति माधुर्य का अनुपम रसास्वादन करने ...

अनोखी प्रेम कहानी - 11
द्वारा ranu rajpoot

कालचक्र की गति इतनी तीव्र हो गयी कि किसी को सोचने-समझने और चिंतन का अवकाश ही न मिला। भरोड़ा की हवेली में बरतुहार बनकर स्वयं माया दीदी पधारी थीं। ...

अनोखी प्रेम कहानी - 10
द्वारा ranu rajpoot

बटेश्वर स्थान का गंगा-घाट और उससे लगा विशाल भू-भाग, नर-नारियों के हास-परिहास और हलचलों से भर गया था। सैकड़ों बीघे भू-भाग पर सहस्त्रों शिविर तथा तम्बुएँ। शिविरों के लिए ...

अनोखी प्रेम कहानी - 9
द्वारा ranu rajpoot

चम्पापुरी का गंगातट।बखरी सलोना की सजी-सँवरी नौका में पाल बांधा जा चुका था और शांत बैठे नाविक माया दीदी के आगमन की प्रतीक्षा कर रहे थे।माया दीदी के साथ ...

अनोखी प्रेम कहानी - 8
द्वारा ranu rajpoot

रात का दूसरा प्रहर बीतने को आया, परन्तु मधुरिया माय की आँखों से नींद गायब थी। पति गनौरी गोढ़ी की आँखें निद्रा के बोझ तले बोझिल होती जा रही ...

अनोखी प्रेम कहानी - 7
द्वारा ranu rajpoot

'गुरूदेव!' बखरी सलोना से पोपली काकी का संदेश लेकर माया दीदी आयी हैं, 'शिवदत्त नाथ ने नतजानु होकर गुरु भैरवनाथ से कहा-' उन्हें द्वार पर ही रोककर आया हूँ। ...

अनोखी प्रेम कहानी - 6
द्वारा ranu rajpoot

अंगमहाजनपद के मुख्य केन्द्र चम्पा नगरी से पश्चिमोत्तर बीस कोस की दूरी पर बहुरा गोढ़िन के आधिपत्य में बखरी सलोना बसा था।तांत्रिक मच्छेन्द्रनाथ के अनुयायियों ने अपने गुरु की ...

अजूबा ही नहीं, एक तिलिस्म है मानवी शरीर .
द्वारा Dr Jaya Shankar Shukla

अजूबा ही नहीं, एक तिलिस्म है मानवी शरीर ........................अपनी अंगुलियों से नापने पर 96 अंगुल लम्बे इस मनुष्य−शरीर में जो कुछ है, वह एक बढ़कर एक आश्चर्यजनक एवं रहस्यमय ...