हिंदी सामाजिक कहानियां कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

शेष जीवन(कहानियां पार्ट22)
द्वारा किशनलाल शर्मा

अनुपम बिहार का रहने वाला था।उसने सुना ही नही पढ़ा भी था कि बिहार में ऐसे गिरोह सक्रिय है,जो योग्य व अच्छे पद पर कार्यरत युवाओं का अपहरण करके ...

ज़िन्दगी - 6
द्वारा Mehul Pasaya

सुना सभी भाई लोग ने कोई कुच नही करेगा ओके. वरना में यहा पर सबको मार दूंगा और जेल चला जाऊंगा. ऐसी चीजों से बिलकुल भी नहीं डरता.ए ये ...

शेष जीवन(कहानियां पार्ट21)
द्वारा किशनलाल शर्मा

उसके बैठते ही सरदार बोला,"पंडितजी जल्दी से शादी करा दो।"और पंडित ने जल्दी जल्दी अनुपम के उस युवती के साथ फेरे पड़वा दिए।शादी होने के बाद अनुपम को उस ...

शेष जीवन(कहानियां पार्ट 20)
द्वारा किशनलाल शर्मा

यह बात एक दिन उर्मिला की बहू रमा को पता चली।रमा लेक्चरार थी।वह सारी बात सुनकर बोली,"माजी इसमें बुराई क्या है"?"बहू तू कैसी बात कर रही है।सास के गर्भ ...

पलायन - 3 - अंतिम भाग
द्वारा राज कुमार कांदु

पत्र समाप्त करके उस युवा ने अपना हाथ अपनी आँखों पर फेरा, शायद आँखें भर आईं थीं उसकी। कुछ पल वह खामोश रहा और फिर कहना शुरू किया, "साथियों, ...

भक्ति और शक्ति ( वेदांत अंश)
द्वारा Anand Tripathi

भक्ति में बहुत शक्ति होती है। भक्ति का तात्पर्य है-स्वयं के अंतस को ईश्वर के साथ जोड़ देना। जुड़ने की प्रवृत्ति ही भक्ति है। दुनियादारी के रिश्तों में जुट ...

मुँह चिढ़ाते सपने
द्वारा prabhat samir

डा.प्रभात समीर भीखा को मैंने पहली बार अलका के घर में देखा था । उसके ड्राइंगरूम में बैठी किसी पत्रिका के पृष्ठ पलटती हुई मैं उसकी प्रतीक्षा कर रही ...

भग्नावशेष
द्वारा Asha Parashar

आदित्य को समझ नहीं आ रहा था कि जो कुछ उसने देखा क्या वह सत्य था? जिस भव्य मूर्ति को वह बरसों से अपने दिल-दिमाग में सहेज कर बैठा ...

शोषण
द्वारा Ashwajit Patil

मदन एक झटके से उठ बैठा. बदहवास सा सबसे पहले उसने अपने जिस्म को टटोला, वह नाईट सुट में था. अपने बिस्तर पर देखा उसके सिवा वहां कोई और ...

पलायन - 2
द्वारा राज कुमार कांदु

नोटबंदी व जीएसटी लागू करने के साथ ही सरकार ने बड़े शहरों में चलने वाले ऑटो वगैरह की अधिकतम उम्र निर्धारित कर दी जिसके तहत उम्र पूरी कर चुके ...

पलायन - 1
द्वारा राज कुमार कांदु

वह युवा सोशल मीडिया पर एक जाना पहचाना नाम बन गया था। लोगों तक पहुँचकर जन समस्याओं की पड़ताल करना और सरकार के बारे में उनकी राय सोशल मीडिया ...

अधूरी कहानी
द्वारा Asha Parashar

स्वरा पूरी रात करवटें बदलती रही। नींद उस से कोसों दूर थी। आंखें बुरी तरह जल रही थीं। वह अपने दिलो दिमाग से सब कुछ निकाल देना चाहती थी, ...

शेष जीवन(कहानियां पार्ट 19)
द्वारा किशनलाल शर्मा

"तुम दूसरी शादी कर लो"पति की बात सुनकर रचना बोली"मैं दूसरी शादी कर लो"पत्नी की बात सुनकर महेश बोला,'तुम ऐसा क्यों कह रही हो"।"हर मर्द चाहता है उसकी पत्नी ...

दो नावों में
द्वारा Ranjana Jaiswal

अनामा को ऐसा लग रहा था जैसे उसके प्राण निकल जायेंगे। जैसे वह चिता पर लेटी हुई है या फिर नरक की आग में जल रही है। इतनी जलन- ...

किस्सा एक लवारेंज मैरिज का
द्वारा Rama Sharma Manavi

आजकल का जो नया चलन प्रारंभ हुआ है उसमें अक्सर युवक-युवती जब प्रेम करते हैं या एक-दूसरे को पसंद करने लगते हैं तो परिवार वालों को विवाह के लिए ...

राजपूतों में अपने नाम में सिंह लिखना कब से और क्यु शुरू हुआ?
द्वारा Dr. Bhairavsinh Raol

संस्कृत श्लोक नाभिषेको न संस्कार: सिंहस्य क्रियते मृगैः |विक्रमार्जितराज्यस्य स्वयमेव मृगेंद्रता ||हिंदी अनुवाद:जंगल में पशु शेर का संस्कार करके या उसपर पवित्र जल का छिडकाव करके उसे राजा घोषित ...

बागेश्वर धाम सरकार
द्वारा Gurpreet Singh

दोस्तों बागेश्वर धाम मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के पन्ना रोड पर स्थित ग्राम गढ़ा गंज में स्थित है | बागेश्वर धाम छतरपुर से 35 किलोमीटर के आसपास की ...

शेष जीवन(कहानियां पार्ट 18)
द्वारा किशनलाल शर्मा

विमला की बात सुनकर राजन बोला,"इसमें मे क्या कर सकता हूँ।तुम्हारे पति ने गलती की है तो उसे सजा तो मिलेगी ही।""महेश ने गलती की है पर उसकी सजा ...

शेष जीवन(कहानियां पार्ट 17)
द्वारा किशनलाल शर्मा

एक और सावित्री"भाभी इस केस में कुछ नही हो सकता।""तुम यह बात कह रहे हो।इस शहर के माने हुए वकील होकर यह बात कर रहे हो।""भाभी मे कानून की ...

बुलेट बाबा मंदिर
द्वारा Gurpreet Singh

मंदिर का नाम 'ओम बन्ना धाम' है। लोग इसे 'बुलेट बाबा मंदिर' के नाम से भी जानते हैं। दरअसल करीब 30 साल पहले इस गांव में ठाकुर जोग सिंह ...

लंच टाईम
द्वारा Rohit Kumar Singh

निरंजन चौधरी 50 के लपेटे मे आये हुये इन्सान थे,और कोई 22 बरस हो गये थे उन्हें अपनी स्टील की फैक्टरी मे नौकरी करते हुये।जीवन एकरसता सा चला जा ...

शिमला का इतिहास
द्वारा Gurpreet Singh

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला है. यह ब्रिटिश काल में देश की समर कैपिटल (Sumer Capital) भी थी. गर्मियों में अंग्रेज यहीं से भारत का शासन करते ...

BOYS school WASHROOM - 23
द्वारा Akash Saxena "Ansh"

वॉचमैन को किसी क्लासरूम में कुछ रौशनी सी लगती है….वो आँखें चौड़ाकर और घूरता है तो एक बार फ़िर उसे रौशनी जलती-बंद होती हुई दिखाई देती है...वो तुरंत पीछे ...

शेष जीवन (कहानियां पार्ट16)
द्वारा किशनलाल शर्मा

रमेश ने जब भी चाहा उमा ने समर्पण कर दिया था।लेकिन रमेश की शादी का पता चलने पर एक दिन रमेश ने उमा के शरीर को पाना चाहा तो ...

शेष जीवन (कहानियां पार्ट15)
द्वारा किशनलाल शर्मा

शादी के बाद रमेश अहमदाबाद आने लगा तब उसके माता पिता ने सीमा को उसके साथ भेजना चाहा था।लेकिन वह उसे साथ लेकर नही आया था।पहले वह पिता से ...

अब क्या कहूँ
द्वारा Rama Sharma Manavi

आजकल मैं अत्यधिक चिंतित रहती हूँ।अपनी इस परेशानी को किसी से बांट भी तो नहीं सकती, बस ईश्वर से प्रार्थना करती रहती हूँ कि जो हमारे लिए उचित हो,वह ...

जिला अलवर
द्वारा Gurpreet Singh

राजस्थान का अलवर जिला पहले एक रियासत हुआ करते थी। 1947 के बाद इसका राजस्थान राज्य में विलय कर लिया गया। इस रियासत का राजस्थान में विलय करने के ...

बर्बरीक (खाटू श्याम जी)
द्वारा Gurpreet Singh

बर्बरीक भीम के पुत्र घटोत्कच के पुत्र थे. बर्बरीक को आरंभ से ही धनुष विद्या में रूचि थी. बर्बरीक को भगवान शिव ने वरदान दिया था कि वह अपने ...

BOYS school WASHROOM - 22
द्वारा Akash Saxena "Ansh"

"यश!" यश नाम है हमारे बेटे का...बचपन से इसी स्कूल में पढ़ा है….और हाँ हेड बॉय है यश स्कूल का…..अविनाश-वॉचमैन को बताता है। "ओ यश भईया आपके बेटे हैं।" ...

पृथुदक तीर्थ
द्वारा Gurpreet Singh

पिहोवा का इतिहास ___________________________पेहवा (Pehowa) या पेहोवा या पिहोवा भारत के हरियाणा राज्य के कुरुक्षेत्र ज़िले में स्थित एक नगर है। इसका पुराना नाम पृथूदक (Prithudak) था। यह एक ...

बस अब और नहीं! - 4 - अंतिम भाग
द्वारा Saroj Prajapati

भाग -4 बच्चों को खाना खिला कर वह लेट गई लेकिन नींद उसकी आंखों से कोसों दूर थी। नींद तो उसे पहले भी नहीं आती थी। पहले अपने दुख ...

जिला कुरुक्षेत्र
द्वारा Gurpreet Singh

यह वह भूमि है जिस पर महाभारत की लड़ाई लड़ी गई थी और भगवान कृष्ण ने अर्जुन को ज्योतिसर में कर्म के दर्शन का उचित ज्ञान दिया था।कुरुक्षेत्र एक ...