हिंदी डरावनी कहानी कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

हॉन्टेड हाईवे की एक पुरानी कहानी.
द्वारा Chandani

श्श्श कोई है.... हॉन्टेड हाईवे की एक पुरानी कहानी..... करीब ६० साल पुरानी ये बात है। आज भी वहां कई ऐसे किस्से तो कुछ अनहोनी या ना सोचे हो ...

खूनी साया - Part-3
द्वारा FARHAN KHAN

कुछ ही देर बाद उस घर के अंदर से एक आदमी एक औरत के साथ सलाम अर्ज़ करता हुआ बाहर आया। और भाईजान से कहने लगा "मैं क़ासिम और ...

तड़पती आत्मा
द्वारा Ravi Sharma

अमर और माया दोनों पति-पत्न्नी थे ओर 5 साल बाद कैनेडा से इंडिया लौट रहे थे, दरअसल अमर की ट्रांसफर इंडिया हो गई थी, अब अमर इंडिया में ही ...

भूतिया कमरा - 1
द्वारा jayshree Satote

         पापा की जोब मुम्बंई ट्रान्सफर हुई थी।कल रात ही पापा-मम्मी और मे विस्वकर्मा एपार्टमेन्ट के आठवे माले पे फ्लेट नंबर 103 मे सीफ्ट हुए थे।लगभग ...

डायन - 1
द्वारा Kaamini

    नमस्ते दोस्तो। आपके ढेर सारे प्यार के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद करती हूँ। आपने मेरी लेखनी को सराहा उसका शुक्रिया शब्दो मे करना कम ही होगा। ...

निपुणनिका-- - 5(अंतिम भाग)
द्वारा Saroj Verma

फिर एक रात उस महल में एक खूनी खेल हुआ, अपारशक्ति चेहरा ढ़ककर आधी रात के वक्त निपुणनिका के कमरे में गया और तलवार से श्रवन का गला काट ...

Villisca House
द्वारा FARHAN KHAN

ये सच्ची घटना अमेरिका के एक छोटे शहर "विल्लीसका लोवा" कि है, कहा जाता है कि ये घटना 10 जून 1912 कि रात 3:00 बजे घटित हुई। जब एक ...

निपुणनिका--भाग(४)
द्वारा Saroj Verma

मौसी के बड़े-बड़े नाखून वाले गंदे हाथ देखकर मैं बहुत डर गया,वो अचानक बढ़ने लगी,उसका सर कोठरी की छत से छूने लगा, उसने जैसे ही मुझे हाथ लगाया, उसके ...

वो कौन थी️️️️️️️ - 1
द्वारा Neerja Pandey

ज़िन्दगी के सफ़र में चलते हुए कई बार ऐसे अनुभव होते हैं जिन्हें आप सारी उम्र नहीं भूल पाते हैं । मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही अनुभव हुआ ...

निपुणनिका--भाग(३)
द्वारा Saroj Verma

उस दिन मैं और मनोज उस पुराने महल से जान बचाकर भागे,घर पहुंच कर ही हमने सांस ली, मनोज ने कहा कि ये सब अभी किसी से मत कहना, ...

निपुणनिका--भाग(२)
द्वारा Saroj Verma

अब मेरी उम्र पचास साल की है,जब वो भयानक दिन मुझे याद आते हैं तो मेरे शरीर में मुझे अब भी झुरझुरी महसूस होती है। मैं बेहोश होकर वहीं ...

निपुणनिका--भाग(१)
द्वारा Saroj Verma

तुझे मना किया था ना,अपार फिर तू क्यो गया?वहां तुझे कुछ हो जाता तो, मैं इसलिए मना कर रही थी कि तू मेरे साथ मत आ,वो तो मैं समय ...

आये हैं तो आराम कर लीजिए ।
द्वारा Rohit Kumar

कुछ जगह कुछ लोग हमारा पीछा करते हैं , जो की हमे जानते हैं, पर कुछ जगह किसी की आवाज़े हमारा पीछा करती हैं ,लोग तो एक वक़्त पर ...

खूनी साया Part - 2
द्वारा FARHAN KHAN

Khooni Saya [ Part - 2 ] Evil Come From The Darknessजब मैं घर पहुँचा तो मेरी छोटी बहन [ जीनत ] चुप- चाप एक किताब पढ़ रही थी, मैं ...

वो लाल दो आंखें
द्वारा Kirtipalsinh Gohil

--वो लाल दो आंखें--"यारों, क्या जबरदस्त फिल्म थी, है न?" हॉरर फिल्म देखकर मैं और मेरे सभी मित्र सिनेमाघर से बाहर निकलकर पार्किंग में आए की सभी मित्रों में ...

कब्रिस्तान
द्वारा Sohail Saifi

यह कहानी मेरे साथ घटी सत्य घटना पर आधारित है। कृपा इसको किसी भी प्रकार से कोई कल्पना ना समझें, जिन लोगों को मेरी कहानी पर विश्वास नहीं उन ...

भू........त - Bhoooooot
द्वारा The Real Ghost

भूत का अस्तित्व है या नहींयह सवाल अपने आप में बहुत उलझाने वाला है | जितनी उत्तेजना इस सवाल से पैदा होती है उससे कम जवाब सुनकर नहीं होती ...

चील घर
द्वारा सौरभ कटारे

वैसे तो हम गांव के रहवासी थे,पर पढ़ाई के लिए पास के कस्बे में किराए के मकान में रहते थे क्योकी उस समय गांव में स्कूल सिर्फ  आठवीं कक्षा ...

शादी का पहला प्यारभरा डरावना सावन
द्वारा Ankusha Bulkunde

            राहुल और सिया दोनों पति पत्नी थे | दोनों की शादी को लगभग 4 महीने पुरे हो चुके थे| "सिया ,आओ जल्दी ,,फटाफट ...

हॉंटेल होन्टेड - भाग - 6
द्वारा Prem Rathod

'Film Reel कहां गई?' निकुंज की आवाज में परेशानी थी क्योंकि फिल्म जो प्रोजेक्टर में होनी चाहिए थी वह वहां पर नहीं थी। निकुंज ने वहां रूम में ढूंढना ...

कब्रस्तान की आवाज - 1
द्वारा Henna pathan

कब्रस्तान लफ्ज सुनते ही हमारे जहन मे एक ही ख्याल आता है " खौफ" से रूह कांप जाती है ऐसी ही एक खौफ से भरी कहानी है एक शहर ...

बरसात की काली रात
द्वारा Ankusha Bulkunde

       शाम का वक़्त था| मैं घर के गार्डन में टहलने  निकला |मंद-मंद  हवा चल रही थी |पेड़ पैर बैठे पक्षियों की चिलचिलाहट मुझे बड़े ही बारीकी ...

स्कूल की कुछ भूतिया यादें
द्वारा Niraj Bishwas

Actually मैं बचपन से ही  boarding school में पढ़ा हूं । मैं कभी कभी सोचता हूं कि ये भूत प्रेत की  बातें सही है जबकि मैं एक शिक्षत युवा ...

बरसात की वो रात
द्वारा Chandani

बरसात की एक रात मुंबई की बारिश! क्या तारीफ़ करू इसकी? शब्द कम पद जायेंगे पर भावनाएं नहीं। ख़ैर अभी तो में उस रात की कहानी बताना चाहती हूं। ...

वेंडिग इनविटेंशन .....A Horro Story
द्वारा Henna pathan

आज कल की शादीयों में भी खास करके भारतीय शादियों में 'अहम' भूमिका निभाता है! जहाँ इसके बिना शादियां अधुरी  रहती है और आज कल तरह तरह के डिजाइनर ...

तस्वीर का सच - ६ - अंतिम भाग
द्वारा Saroj Verma

अब समीर को समझ में आया कि वहां आत्माएं पहले से थी लेकिन अच्छी वाली, हमारे साथ बुरा उस तस्वीर के आने के बाद शुरू हुआ शायद।।       समृद्धि ...

इत्तेफाक
द्वारा सौरभ कटारे

में एक  छोटे से गांव में रहने वाला एक साधारण ग्रामीण था,उस समय मेरी उम्र लगभग 16 वर्ष की थी, में अपने घर में भाईयो में सबसे बड़ा था ...

तस्वीर का सच - ५
द्वारा Saroj Verma

समृद्धि ने कहा, अच्छा कृतु अब तुम अपने बेडरूम में जाओ.. यस मम्मा!!कृतज्ञता इतना कहकर , अपने कमरे में जाने लगी लेकिन वो बार बार किसी को देखकर मुस्कुरा ...

प्यासी रूह
द्वारा Sushma Tiwari

" मैं कुछ नहीं कर सकता रवि बाबू.. वो.. वो काली परछाई बहुत ताकतवर है.. मेरी जान जा सकती है.. मुझे माफ़ कर दीजिए " कहकर पुरोहित भाग खड़े ...

तस्वीर का सच - ४
द्वारा Saroj Verma

उस बूढ़े को किचन में ना देखकर समीर के तो जैसे होश ही उड़ गए, उसने एक बार फिर सबसे पूछा कि सच में तुम लोगों ने किसी बूढ़े ...

अन्जान रिश्ता - 1
द्वारा suraj sharma

           बरसात की रात थी, पूरे गांव को मानो खामोशी ने अपने आगोश में लिया हुआ था !! बारिश की बूंदों की आवाज़ तो मानो ...

तस्वीर का सच - ३
द्वारा Saroj Verma

शाम को समीर ने टी वी फिक्स कर दिया, समृद्धि ने शाम को चाय और ब्रेड-पकौड़े बनाए और सबसे कहा कि बालकनी में चलो वहीं बैठकर चाय पियेंगे और ...