मेरे लेखन की मूल विधा कहानी है साथ ही कविता एवं लेख भी लिखती हूँ. हाल ही में प्रकाशित नावेल एक थी मल्लिका है. पत्र पत्रिकाओं में कहानियाँ ,आकाशवाणी से सन 90 से अब तक निरंतर कहानियों लेख का प्रसारण. आप यहाँ पढ़िये कहानी-" राज की बात"

    • (7)
    • 85
    • (10)
    • 160