मेरा लेखन में रुचि है और लिखने की हॉबी है.अपना और औरों का जीवन सार्थक हो जाये.इसी आपा -धापी में थोड़ा वक्त निकाल लेता हूँ....मेरा पहला उपन्यास "संघर्स और सपने "2009 में प्रकाशित हुआ है.दो उपन्यास "जीवन -चक्र ",शीबा इसके अलावा दृश्यवर्णन पट कथा छत्तीसगढ़ी भाषा में प्रकाशित होना है....समय के अभाव में लिख नहीं पा रहा था....writer omprakash jain ka flipcart me sangharsh aur sapne novel padhe...mujhe mob no .6266387533 me apna sujhaw dene ki kast kare...taki lekhak ki manobal badh sake ....