नाम- श्रीमती लता तेजेश्वर 'रेणुका', शिक्षा : ओड़िआ व अंग्रेजी, हिंदी, मातृभाषा: तेलुगु, पिता, माता का नाम: गो. शाम्भूमुर्ती आचारी, गो. लक्ष्मीबाई आचारी, पति का नाम – को. तेजेश्वररॉव, पुत्र, पुत्री के नाम - श्रावण एबं मेघा जन्म तिथी - 28.03.68, जन्म स्थान--- परलाखेमुंडी, ओडिशा, निवास स्थान - न्यू पनवेल, शौक्षिक-- योग्यता- डिग्री, विशेष कार्य: 2007 से लेखन में लिप्त, अनुवाद : अँग्रेजी और तेलुगु से हिंदी, ओड़िआ, हिंदी से ओड़िआ। लेखन की विधाएँ- कविता, गज़ल, शेरो-शायरी, यात्रा संस्मरण, लघू कथा, कहानी, उपन्यास, हाइकू, मुक्तक, किताबों की समीक्षा संकलन : 1.अंतराष्ट्रीय उपन्यास खट्टी मीठी रिश्ते में लेखन सहभागिता, 2. भारत की प्रतिभाशाली लेखिकाएँ में परिचय सहित दो कविताएँ, 3.अन्तरास्ट्रीय संकलन 'पोएटेस विथ वॉइसेस स्ट्रांग' में एक हिंदी कविता परिचय सहित, 4.'मुम्बई की हिंदी कवयित्रियाँ' में संक्षिप्त जीवन परिचय सहित कविता प्रकाशित 5. मेरे अपने संपादन में छपी काव्य संकलन 'सीप के मोती' में 5कविताएँ प्रकाशित, 6. अँग्रेजी के संकलन 'The strings of Love' में अंग्रेजी में एक कहानी प्रकाशित। प्रकाशित पुस्तकें और ई-बुक 1. मैं साक्षी यह धरती की (काव्य संग्रह)2009, 2 हवेली(उपन्यासिका)2014, 3.'The Waves of Life' (अंग्रेजी)2015, 4. चाँदनी रात में तुम (काव्य संग्रह)2016. 5.सैलाब (लघुउपन्यास,2018) 6.भावनाएँ महकती है (काव्य संग्रह, 2019) 7. उपन्यास 'लहराता चाँद' इसके अलावा कई लघु कथाएँ और कहनियाँ, और 2 काव्यसंग्रह प्रकाशन के लिए तैयार है। 6. अन्य: हिंदी के अलावा अंग्रेजी, ओड़िया एबं तेलुगु में *अनुवाद लेखन* एबं सृजन, चारों भाषाओं में मंचों पर मंचन, भारतीय बहुभाषी काव्यपाठ के मंच पर तेलुगु भाषा का प्रतिनिधत्व करते काव्यपाठ। वैश्विक हिंदी सम्मेलन में विविध भारतीय भाषा संस्कृति संगम की राष्ट्रीय अध्यक्षा के तहत ओड़िआ और तेलुगु भाषा के प्रतिनिधित्व, बिभिन्न संस्थाओं के करीब 60मंचों पर हिंदी में काव्य एबं लघुकथा पाठ, समय समय पर tv चैनल्स के काव्यगोष्टियों में भी काव्य प्रसारित। 7. प्रशारित: 1..यू ट्यूब - विसुअल पोएट्री, मॉम.. ऍम आई अलाइव, + 2. daily motions: That dark night and school days. डिजिटल वॉइस वर्ल्ड के द्वारा एबं मेरे खुदके यू ट्यूब चैनल पर भी कविताएँ प्रसारित, 8.अंतर्जाल पोर्टल पर : लिटरेचर इंडिया साइट, मातृभारती, प्रतिलिपि.कॉम, फणीश्वरनाथ रेणु साइट, इंस्टाग्राम, yourquote.com, ट्विटर, स्वर्ण विभा, माझी मेट्रो, poemhunters.com, news zamania.in, litagram, जनकृति अंतराष्ट्रीय पत्रिका, storymirror.com, fb and 4pages पॉर्टल पर अंग्रेजी, हिंदी, तेलुगु, एबं ओड़िया 4भाषाओं में रचनाएँ प्रकाशित, कई व्ट्सप ग्रुप में लेखन। 9. पत्र, पत्रिकाओं में प्रकाशित: 400 से ज्यादा रचनाएँ प्रतिष्ठित मॉगाजिनों, अखबारों, इ-मॉगाजिन, ब्लॉग्स एबं संकलनों में हिंदी, अँग्रेजी में प्रकाशित A) निम्न पत्रिकाओं में प्रकाशित: 30 से ज्यादा पत्रिकाएँ जैसे गर्भनाल, सहित्य सृजन, रिलायंस त्रै मासिक पत्रिका(जामनगर), सत्य दर्शन, साहित्य दर्शन, काव्य रंगोली, साहित्य समीर दस्तक, कवि मन, स्पंदन ( रिलायंस पत्रिका, पाताल गंगा, महाराष्ट्र से), मीडिया ट्रायल, दृष्टिपात, नई पीढ़ी, समाज कल्याण, राष्ट्र समर्पण, नेपथ्य, पुष्पगंधा, अभनव इमरोज़, वागर्थ, साहित्य समाचार, अदबी उड़ान राष्ट्रीय पत्रिका, संगिनी, कनाडा से प्रकाशित प्रयास, छत्तीसगढ़ के 11वीं विश्वहिंदी सम्मेलन के स्मारिका, अध्यापक मित्र और अन्य में भी कविताएँ प्रकाशित। B) अखबारों में प्रकाशित: लोकजंग, ट्रू मीडिया, नवभारत और नवभारत टाइम्स में रचनाएँ प्रकाशित ईC) आकशवाणी और राजस्थान रेडियो, डिजिटल वॉइस, AVIS में भी रचनाएं प्रसारित और काव्य पाठ। 10. संपादन: काव्य संकलन 'सीप के मोती' 11.प्रमुख सम्मान प्राप्त: 1.काव्यसंग्रह "में साक्षी यह धरती की" के लिए 'साहित्य गरिमा सम्मान', विश्वमैत्री मंच, 2. उपन्यास 'हवेली' के लिए 'समीर दस्तक राष्ट्रीय गौरव सम्मान', 3. अदबी उड़ान राष्ट्रीय हिंदी साहित्यकार सम्मान व पुरस्कार, 4. नारी गौरव सम्मान, (jmd प्रकाशन), 5.बहु भाषी लेखिका सम्मान, तेलुगु कला वेदिका, नवीमुम्बई, 6.हिंदी भाषा भूषण सम्मान, (साहित्य मंडल परिवार, नाथद्वारा) 7.हिंदी साहित्य भूषण सम्मान, काव्यरंगोली पत्रिका की ओर से, 8. शतक-वीर सम्मान, (समगस व्ट्सप ग्रुप के द्वारा) 9.महाराजा श्री कृष्णचन्द्र जैन सम्मान, (समग्र साहित्यिक सेवा के लिए सम्मानित,शिलांग), 10. 4थ सोशल मीडिया प्रतिभा सम्मान, 11. प्रतिभा सम्मान(मगसम मंच), 12.'अग्निशिखा गौरव रत्न सम्मान' प्रसस्ति पत्र, 13.रीडर्स चॉइस राइटर अवार्ड, मातृभारती.कॉम, 14. महादेवी वर्मा सम्मान, 12.ब्लॉग : https://latatejeswar.blogspot.in/?m=1 13.यात्राएँ और सामाजिक कार्य: राष्ट्रीय और अन्तराष्ट्रीय (भूटान, मॉरीशस) के सम्मेलनों में मंचन, 11वीं विश्वहिंदी सम्मेलन मॉरीशस में सहभागिता, विभिन्न मंचों पर मुख्य अतिथि के रूप में विशेष सम्मान, गुजरात महाराष्ट्र, चेन्नई, राजस्थान, मध्यप्रदेश आदि भोपाल में साहित्य सम्मेलनों में भागीदारी व कई राज्यों में साहित्य व अन्य कार्यों के लिये यात्राएँ। 14. अध्यक्षा- 'विविध भारतीय भाषा संस्कृति संगम', विभिन्न भारतीय भाषाओं के उत्थान के लिए कार्यरत।