हिंदी रोमांचक कहानियाँ कहानियाँ मुफ्त में पढ़ेंंऔर PDF डाउनलोड करें

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 19
द्वारा Jules Verne

अध्याय 19 पश्चिमी गैलरी - एक नया मार्ग   हमारा वंश अब दूसरी गैलरी के माध्यम से फिर से शुरू हुआ। हंस ने उठाया उनकी पोस्ट हमेशा की तरह ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 18
द्वारा Jules Verne

अध्याय 18 गलत सड़क!   अगले दिन, हमारा प्रस्थान बहुत जल्दी हो गया। वहाँ नहीं था कम से कम देरी के लिए समय। मेरे हिसाब से हमारे पास पाँच ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 17
द्वारा Jules Verne

अध्याय 17 गहरा और गहरा - कोयला खदान   सच तो यह है कि हम मजबूर होकर खुद को राशन पर झोंक रहे थे। हमारी आपूर्ति निश्चित रूप से ...

शेष जीवन (कहानियां पार्ट 1)
द्वारा किशनलाल शर्मा

1--प्यार"आप अंदर जा सकते है।"नर्स के कहने पर रमेश अंदर चला गया।इला पलँग पर लेटी थी।उसकी बगल में उसका नवजात शिशु सो रहा था।रमेश बच्चे की तरफ देखते हुए ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 16
द्वारा Jules Verne

अध्याय 16 पूर्वी सुरंग   अगला दिन था मंगलवार, 30 जून - और छह बजे सुबह हमने अपनी यात्रा फिर से शुरू की।   हम अभी भी लावा की ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 15
द्वारा Jules Verne

अध्याय 15 हम अपना वंश जारी रखते हैं   अगली सुबह आठ बजे, दिन की एक धुंधली सी सुबह ने हमें जगाया। लावा के हजार और एक प्रिज्म ने ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 14
द्वारा Jules Verne

अध्याय 14 असली यात्रा शुरू   हमारी असली यात्रा अब शुरू हो चुकी थी। अब तक हमारे साहस और दृढ़ संकल्प ने सभी कठिनाइयों को दूर कर दिया था। ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 13
द्वारा Jules Verne

अध्याय 13 SCARTARIS की छाया हमारा रात का खाना आराम से और तेजी से खाया गया, जिसके बाद सभी ने खाया वह गड्ढा के खोखले के भीतर अपने लिए ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 12
द्वारा Jules Verne

अध्याय 12 माउंट SNEFFELS की चढ़ाई विशाल ज्वालामुखी जो हमारे साहसिक प्रयोग का प्रथम चरण था पांच हजार फीट से ऊपर। Sneffels एक लंबे समय की समाप्ति है की ...

वफादार शुभ्रक
द्वारा મહેશ ઠાકર

*कुतुबुद्दीन, क़ुतुबमीनार, कुतुबुद्दीन की मौत और स्वामी भक्त घोड़ा "शुभ्रक"*किसी भी देश पर शासन करना है तो उस देश के लोगों का ऐसा ब्रेनवाश कर दो कि- वो अपने ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 11
द्वारा Jules Verne

अध्याय 11 हम माउंट SNEFFELS तक पहुँचते हैं - "रेकीर" स्टापी एक शहर है जिसमें तीस झोपड़ियाँ हैं, जो के एक बड़े मैदान पर बनी हैं ज्वालामुखी से परावर्तित ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 10
द्वारा Jules Verne

अध्याय 10 आइसलैंड में यात्रा यह, किसी ने सोचा होगा, रात हो गई होगी, यहां तक कि. में भी पैंसठवें अक्षांश के समानांतर; लेकिन फिर भी रात की रोशनी ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 9
द्वारा Jules Verne

अध्याय 9 हमारी शुरुआत - हम रास्ते में रोमांच के साथ मिलते हैं जब हमने अपने साहसिक कार्य की शुरुआत की, तो मौसम बादल छा गया था, लेकिन बस ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 8
द्वारा Jules Verne

अध्याय 8 ईडर-डाउन हंटर - अंत में बंद उस शाम मैंने रिक्जेविक के पास तट पर एक संक्षिप्त सैर की, उसके बाद जो मैं अपने मोटे तख्तों के बिस्तर ...

बाल कथाएं - 6 - बाबुली
द्वारा Akshika Aggarwal

बाबुली चिड़िया का सच्चा दोस्त। एक गांव में एक छोटा सा लडका राजू रहता था। वह अपने माँ बाबुजी के साथ एक बडे से घर मे रहता था। उसके ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 7
द्वारा Jules Verne

अध्याय 7 बातचीत और खोज जब मैं लौटा तो रात का खाना तैयार था। यह भोजन मेरे योग्य ने खा लिया उत्सुकता और ताक़त के साथ रिश्तेदार। उनके शिपबोर्ड ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 6
द्वारा Jules Verne

अध्याय 6 आइसलैंड के लिए हमारी यात्रा जाने की घड़ी आखिर आ ही गई। एक रात पहले, योग्य मि. थॉम्पसन हमारे लिए बैरन के लिए परिचय के सबसे सौहार्दपूर्ण ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 5
द्वारा Jules Verne

अध्याय 5 चढ़ाई में पहला पाठ हैम्बर्ग के एक उपनगर एल्टोना में, किला का मुख्य स्टेशन है रेलवे, जो हमें बेल्ट के किनारे तक ले जाना था। बीस . ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 4
द्वारा Jules Verne

अध्याय 4 हम यात्रा शुरू करते हैं "आप देखते हैं, पूरा द्वीप ज्वालामुखियों से बना है," ने कहा प्रोफेसर, "और ध्यान से टिप्पणी करें कि उन सभी पर योकुल ...

बाल कथाएं - 5 - जादुई मछली
द्वारा Akshika Aggarwal

एक समय की बात है। एक शहर में दो मछुआरे रहते थे। अमन और अजय वो शहर समुद्र के पास था तो ज्यादा तर लोग मच्छि ही पकडा करते ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 3
द्वारा Jules Verne

अध्याय 3 एक आश्चर्यजनक खोज "क्या बात है आ?" रसोइया रोया, कमरे में प्रवेश किया; "कब होगा मास्टर ने खाना खा लिया?" "कभी नहीँ।" "और, उसका खाना?" "मुझे नहीं ...

बाल कथाएं - 4 - कभी झूठ मत बोलो
द्वारा Akshika Aggarwal

एक समय की बात है एक जंगल मे शेरा और भागिरा नाम के दो शेर रहते थे दोनो में गहरी दोस्ती थीपर भागिरा एक बाघ था तो शेरा एक ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 2
द्वारा Jules Verne

अध्याय 2 रहस्यमय चर्मपत्र "मैं घोषणा करता हूं," मेरे चाचा ने अपनी मुट्ठी से मेज पर जोर से वार करते हुए रोया, "मैं आपको घोषित करता हूं कि यह ...

बाल कथाएं - 3 - जितना है उसमें संतुष्ट रहो।
द्वारा Akshika Aggarwal

एक समय की बात है। लखनऊ शहर में एक बहोत ही अमीरआदमी अमित मिश्रा रहता था। वो बहोत अमीर था। उसका लाखो करोड़ो रूपये का कारोबार था। उसके पास ...

पृथ्वी के केंद्र की यात्रा - 1
द्वारा Jules Verne

जूल्स वर्ने अध्याय 1 मेरे चाचा ने एक महान खोज की उस घटनापूर्ण दिन के बाद से मेरे साथ जो कुछ भी हुआ है, उसे देखते हुए, I मैं ...

बाल कथाएं - 2 - अहँकार ही हार है
द्वारा Akshika Aggarwal

एक बार की बात है नजबगढ़ में दो भाई रहते थे अनिकेत और निकेत। अनिकेत पढ़ने में बहोत होशियार था और निकेत थोड़ा कमजोर था। अनिकेत दिन में सिर्फ़ ...

बाल कथाएं - 1 - मन की सुंदरता
द्वारा Akshika Aggarwal

मन की सुंदरताएक बार की बात है एक पेड़ पर दो पंछी रहते थे। कोयल "कोकिला" और सफेद कबूतर "गौरे" कोकिला बहोत परोपकारी और दयालु पक्षी थी वह बहोत ...

सजा--अनोखी कथा (पार्ट 3)
द्वारा किशनलाल शर्मा

राधा चली गयी। पर राधव के दिल से नही।वह उसे नही भुला पाया।राधा ने उसकी दूसरी शादी करा तो दी थी।पर वह दूसरी पत्नी सुधा से खुश नही था।कहाँ ...

सजा--अनोखी कथा (पार्ट 2)
द्वारा किशनलाल शर्मा

पहले तो उसने कभी भी इन बाती पर ध्यान नही दिया था।लेकिन लोग चर्चा करने लगे तो उसे भी चिंता हुई थी।आखिर ऐसी कौन औरत होगी जो मा बनना ...

सजा--अनोखी कथा (पार्ट 1)
द्वारा किशनलाल शर्मा

उसका अपराध क्षम्य नही था।उसने जघन्य अपराध किया था।कानून की नज़र में वह गुनहगार थी।उसका गुनाह उसे हत्यारिन सिद्ध करने के लिए काफी था।हत्यारिन को सजा मिलनी ही चाहिए।जरूर ...

क्या हुआ एक रात?
द्वारा Shweta Sharma

रात के बारह बज रहे थे, सभी गहरी नींद में सो रहे थे; पर समर की आंखों में नींद नहीं थी, क्योंकि आज कुछ करना था उसे, उसकी पत्नी ...

गिरफ्त
द्वारा GAYATRI THAKUR

गिरफ्त "यह मंदिर अपने आप में बहुत अद्भुत है.. यहां हर मनोकामना पूरी होती है"; मंदिर जाने के रास्ते में चलते हुए रागनी की सास ने ...