रोज़ और रॉकी चले हरियाली की राह पर: Learn Hindi - Story for Children and Adults

हिंदी   |   02m 48s

Rose has a recipe to turn waste into plant food. Join Rose and Rocky in their adventures in this book about composting. रोज़ और रॉकी चले हरियाली की राह पर लेखिका - एनी बेसंट रोज़ स्कूल से आई, वो बहुत उत्साहित थी। “अप्पा, आज मैंने कम्पोस्ट खाद बनाना सीखा।” “कम्पोस्ट! वो क्या होता है?” अप्पा ने सिर खुजाया। “अप्पा, कम्पोस्ट खाद को हम रसोई में बचे खाने को दोबारा इस्तेमाल करके बनाते हैं। इसकी वजह से मिटटी मैं पोषक तत्त्व बनते हैं। जिन्हें पौधे खाते हैं!” रोज़ बोली, “और लम्बे तगड़े हो जाते हैं।” अप्पा के चेहरे पर हैरानी थी। “बा...! अरे ये बात तो मैं भी जानता हूँ,” रॉकी मिमियाया। “कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए हमें चाहिए रसोई का कचरा। हम पत्ते और घास का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। अब हम कुछ भी बर्बाद नहीं किया करेंगे।” “क्या मैं इसे घर के पीछे बगिया में बना लूँ, अप्पा?” रोज़ ने रॉकी का कान खींचते हुए पूछा। दोनों दौड़ कर बगिया में पहुंचे और एक बड़ा सा गड्ढा खोद डाला। “रॉकी! पता है न हमें कम्पोस्ट बनाने के लिए क्या चाहिए? सबसे पहले हमें चाहिए फलों, और सब्जियों के छिलके! हमें चाहिए सूखे पत्ते! और चाहिए पानी! अरे! कहाँ गया सब?” रॉकी मिमियाता है, “बा...!” और आँखे मिचकाता है। “रॉ... की...” Story: Annie Besant Illustrator: Sandhya Prabhat Animation: BookBox Translation: Madhu B. Joshi Narration: Sweta Sravan Kumar (BookBox) Music: Rajesh Gilbert

×
Vishesh Images