ग्वालियर (म.प्र.) में जन्मे, खरगोन (म.प्र.) में पले बढ़े और बड़ौदा (गुजरात) में स्थाई रूप से बस चुके आशीष की लेखनी समाज में व्याप्त विसंगतियों पर प्रहार करने के साथ जिन्दगी को बेहतर ढ़ंग से जीने का संबल प्रदान करती है । ‘उस मोड़ पर’ उपन्यास,कहानी संग्रह ‘उसके हिस्से का प्यार’ और गुजरात हिंदी साहित्य अकादमी की अनुशंसा से प्रकाशित लघुकथा संग्रह "गुलाबी छाया नीले रंग" अब तक प्रकाशित कृतियां हैं। आप आशीष को फेसबुक पर भी फॉलो कर सकते हैं । https://www.facebook.com/ashishdalalwrites/