मैं अंकित कुमार द्विवेदी लखनऊ निवासी हूं और कविता लेखन में विशेष रुचि रखता हूं ।मैं अपनी कविताओं में सच्चाई को व्यक्त करना अधिक पसंद करता हूं । मैं अपने जीवन में जो देखता हूं ,महसूस करता हूं उन्हीं को शब्दों के रूप में अपनी कविता में मोती की माला की तरह पिरोता हूं । मुझे इसका कोई विशेष ज्ञान नहीं पर अपने भावों को व्यक्त कर कविता का निर्माण करता हूं ।

    • (3)
    • 106
    • (42)
    • 676
    • (2)
    • 116
    • (29)
    • 556
    • (11)
    • 595
    • (74)
    • 2.5k
    • (22)
    • 1.5k
    • (32)
    • 2.1k
    • (97)
    • 2.7k
    • (120)
    • 2.7k