Hey, I am reading on Matrubharti!

Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
2 साल पहले

શબ્દો તો હંમેશા સંવેદનાથી છલોછલ હોય છે તેમને
છંછેડવા
છેતરવા
છાવરવા
છુપાવવા કે
છલકાવવા
એ નક્કી આપણે કરવાનુ!!!

और पढ़े
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
2 साल पहले
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી विचार
2 साल पहले
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી विचार
2 साल पहले
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
2 साल पहले
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
2 साल पहले
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
3 साल पहले

ढलते दिसंबर के साथ सबकुछ ढल रहा है
धीमे धीमे मध्धम मध्धम
सबकुछ चुपचाप हो रहा है पर हो रहा है
धीमे धीमे मध्धम मध्धम!

और पढ़े
Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
3 साल पहले

Happy International Tea Day ☕

Zalak Mehta कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
3 साल पहले