ख्वाहिश नहीं है मेरी की हजारो दिलो पर राज़ हो... बस जो रहते है हमारे दिल में वह हमसे कभी नाराज़ ना हो....

હું ચાહું છું તને કારણ કે...
મને તારી દરેક વાત ગમે છે..
વાત વાત માં ગુસ્સે થવા
ની તારી આદત ગમે છે...
બોલે તું ત્યારે તને સાંભળવો ગમે છે
અને મૌન હોય ત્યારે
તારા મુખ ના હાવભાવ
જોવા ગમે છે...
ખબર છે નથી પામી શકવાની તને
છતાં તું ગમે છે...

-Zainab

और पढ़े

दोस्ती के दरवाज़े, लाख बंद कर तू मैं
“हवा”
के झोंके सी हूँ, दरारों से भी आ जाऊँगा़ी...
रिश्ता मुहब्बत का नही
कुछ दोस्ती 
में ही मुहब्बत है बहुत

-Zainab

और पढ़े

નભ ને મળવું છે આ ધરા ને,
પણ કબૂલ નથી આ મિલન
કુદરત ને,
વરસે છે નભ એ વિરહ માં
મન મૂકી ને
માણે છે સઁતોષ આ ધરા
એ વર્ષા ને
આલિંગન કરી ને...

-Zainab

और पढ़े
Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 साल पहले

मुलाकात तो आज भी
हो जाती है तुमसे...
मेरे ख्वाब किसी
मजबूरी के मोहताज़
नहीं है....

-Zainab

Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 साल पहले

काश फुरसत में उन्हें
भी ये ख्याल आ जाये,
की
कोई याद करता है
उन्हें ज़िंदगी समज कर...

-Zainab

Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 साल पहले

कहते है
किसीको ज्यादा सोचो
तो वो ख्वाबो में आ जाता है
फ़िर ज्यादा चाहने से
ज़िंदगी में क्यों
नहीं आ जाता....

-Zainab

और पढ़े
Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी मजेदार
1 साल पहले

मोहब्बत पहले अंधी थी
अब उसने अपना
इलाज करवा लिया है
अब मोहब्बत शक्ल
भी देखती है और
बैंक बेलेंस भी....

-Zainab

Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया ગુજરાતી ब्लॉग
1 साल पहले
Zainab Makda कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 साल पहले

दोस्ती के मायने कभी
खुदा से कम नहीं होते....
अगर खुदा करिश्मा है
तो दोस्त भी जन्नत से
कम नहीं है...