Hey, I am on Matrubharti!

कहते है इंसान खाली हाथ आया था
और खाली हाथ जाऐगा साथ लेकर जाऐगा तो
उनके कमॅ।अच्छे किऐ हुऐ कमॅ इंसान के
जिवन भर काम आते हैं और
मरने के बाद इंसान को उसके अच्छे बुरे कमोॅ
की वजह से याद किया जाता है ।
इंसान महान उसके अच्छे कमॅ की वजहा से
बनता है ना की बूरे कमॅ की वजहा से
और अच्छे कमॅ तो भगवान को भी पसंद है
जब भगवान कमोॅ के लेखा जोखा लेकर बेठता
है ।तो उसी के। हिसाब से कमोॅ का फल तय किया जाता है ।इसलिए हमेशा अच्छा कमॅ करो ।
हैना
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

ऐक लड़की थी अनजानी सी
ऐक लड़के पे वो मरती थी
कुछ कहेना था शायद उसको।
पर जाने किससे डरती थी।
उस लड़की का नाम नैना और
लड़के का नाम अभी था। दोनों की बहोत बनती थी
लड़का लड़की को दिवानगी की हद तक प्यार करता था।
सारी दुनिया जानती थी ये बात ।नैना के लिए गाने,और
शायरी वगैरह लिखता रहेता था।

और पढ़े

आप क्या आऐ जिंदगी में
जिंदगी का ढंग ही बदल गया
कभी हाईवे पर। थी जिंदगी अब
उबड खाबड रास्तों पर चल रही है
,हा....... ha ...........हा
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

कहते है इंसान खाली हाथ आया था
और खाली हाथ जाऐगा साथ लेकर जाऐगा तो
उनके कमॅ।अच्छे किऐ हुऐ कमॅ इंसान के
जिवन भर काम आते हैं और
मरने के बाद इंसान को उसके अच्छे बुरे कमोॅ
की वजह से याद किया जाता है ।
इंसान महान उसके अच्छे कमॅ की वजहा से
बनता है ना की बूरे कमॅ की वजहा से
हैना
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

आप क्या आऐ जिंदगी में
जिंदगी का ढंग ही बदल गया
कभी हाईवे पर। थी जिंदगी अब
उबड खाबड रास्तों पर चल रही है
,हा....... ha ...........हा
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

ऐक कप चाय की प्याली
और गमॅगमॅ पकौड़े
और साथ हो पयारा सा हमसफर
तो ऐसी सुबहा की क्या बात!
सुप्रभात
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

हाथों में खन खन करती चुडीया
माथे पे चमचम चमकती बिदिया
कानों में दमकती बालिया
और
होंठों पर प्यारी मुस्कान
साथ में मीठी सी बोली
बोलकर चाय का कप हाथों में लिऐ
अपने पीया को हौले से उठाना
ऐसी सुबहा सबको मुबारक हो
ऐसी मेरी शुभकामना
सुप्रभात
नेहा

और पढ़े

कल रात जिंदगी आई थी सपने में
और चुपके से मेरे कानों में कहा कि
उठो दरवाजा खोलो
खुशीयां बाँहे फैलाऐ
तुम्हारा इंतजार कर रही हैं
सूप्रभात
नेहा अग्रवाल

और पढ़े

ये राखी बंधन है ऐसा
भाई की ममता की छाँव में
बहेना सुरक्षित है।
बहेना का अभिमान है भाई
भैया की आन है बहेना
इस दिन भाई की कलाई पर
राखी बाँध कर बहेन भाई से रक्षा का
वचन लेती है और साथ में जिवन में ऐसी कोई
गलती नहीं करेगी जिससे भाई का मान कम हो
ये वचन देती है ।
नेहा अग्रवाल

और पढ़े