×

Motivational Stories free PDF Download | Matrubharti

फाउन्टेन पैन
by DHIRENDRA BISHT DHiR
  • (15)
  • 617

This story is by Dhirendra S. Bisht and he has mentioned about a kid how he having aspirations on his mind about fountain pen. The main role in this ...

मैं रूद्र हूँ ।
by Rudra
  • (4)
  • 42

मैं रूद्र हूँ ।   नमस्ते ! मैं रूद्र हूँ । और अच्छी बात यह है की मैं यह जानता हूँ मैं कौन हूँ । और यह मेरा कोई ...

घर की दीवारें धड़कती हैं अपनो से
by Ajay Kumar Awasthi
  • (6)
  • 81

घर की दीवारें धड़कती हैं अपनो से      मेरे एक मित्र पेशे से इंजीनियर है. उन्होंने हाल ही में अपने लिए एक मकान बनवाया, उसकी सजावट पर उन्होंने ...

फ्यू -फाइन्ड इटर्निटी विदिन - क्योंकि लाइफ की ऐसी की तैसी न हो - भाग- 6
by Sanjay V Shah
  • (2)
  • 39

३६) स्वयं को सर्वाधिक प्रामाणिक, पारदर्शक व बेबाक बताने की शेखी हर कोई बघारता है, जबकि वास्तविकता एकदम अलग ही होती है। अन्य लोगों के साथ तो ठीक, खुद ...

सुरसा आंटी
by VIKAS BHANTI
  • (1)
  • 60

जून की कड़क गर्मी थी | आसमान से लगता था की सूर्यदेव अग्नि की वर्षा करने में मग्न थे | आमतौर पर जून किसी के लिए सुखदायक हो ना ...

मछली और किनारा
by Manjeet Singh Gauhar
  • (4)
  • 107

एक बार एक मछुआरा मछलियों को पकड़ने  नदी के किनारे बहुत समय से बैठा हुआ था, लेकिन उसके हाथ एक भी मछली नही आई। और वो निराश होकर वहाँ ...

भ्रम का भूत
by Ajay Kumar Awasthi
  • (15)
  • 163

कभी कभी जीवन मे कुछ ऐसा घटता है या ऐसा दृश्य सामने आ जाता है,जिसे यदि साहस के साथ जानने की कोशिश न की जाय तो जीवन भर वो ...

फ्यू -फाइन्ड इटर्निटी विदिन - क्योंकि लाइफ की ऐसी की तैसी न हो - भाग-5
by Sanjay V Shah
  • (3)
  • 48

26)  दिन भर बारहों घंटे बोलते रहना आसान है, लेकिन बारह मिनट सुनना निहायत कठिन है। बोलने की क्रिया में बुद्धि की कोई विशेष भूमिका नहीं होती। बोलना एक ...

ग्रैंड पेरेंट्स 
by r k lal
  • (12)
  • 159

ग्रैंड पेरेंट्स  आर0 के0 लाल        बच्चों! पिछले हफ्ते हम लोगों ने पेरेंट्स पर चर्चा की थी। आप सभी लोगों ने बताया था कि आप के पेरेंट्स आपके लिए क्या ...