Writer, Author, Blogger, Columnist and Content Provider. Very passionate about writing, Bollywood and Cricket. Emotional by nature listens more to heart than mind.

"अपूर्ण होने का मतलब अयोग्य होना नहीं है।"

'जब अपना दुःख अपनों के दुःख से कम लगे, तो समझो तुम्हें रिश्ते निभाना आता है!'

- सिद्धार्थ

मेरा सर्वप्रथम और पाठकों द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया हुआ, एवं मातृभारती के सबसे लोकप्रिय गुजराती उपन्यासों में से एक #शांतनु आज मध्यरात्रि से हर शुक्रवार मध्यरात्रि हिंदी में भी... 

और पढ़े