Future DOCTOR in the making,I am a Writer,Shayar,Poet INSTAGRAM-@lafzz_dil_k

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
2 सप्ताह पहले

Akash Saxena लिखित कहानी "BOYS school WASHROOM - 3" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19891140/boys-school-washroom-3

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
3 सप्ताह पहले

ये जो ज़मीं से ज़रा दूर चलकर आसमां तक पहुंच कर
फिर उसी ज़मीं पर हस्ते हो ना,
तो तुम्हे इतना बता दूं कि हमेशा आसमाँ में रह कर भी मैने इन बादलों को
मीलों बेवज़ह चलते देखा है।
और आज गुमां है तुम्हे जिस आसमान का,
उसी आसमान को मैने इस ज़मीं के लिए बरसों से तरसते देखा है।
और जो घमंड हो फिर भी तुम्हे अपने आसमाँ में होने का तो ये भी मान ही लो कि,
इस ज़मीं से मिलने की चाहत में यूँ इन बादलों से बिछड़ कर,इन बूंदों को बेमौसम बरसते तो तुमने भी देखा है।

और पढ़े
Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
3 सप्ताह पहले

Akash Saxena लिखित कहानी "दोस्ती से परिवार तक - 2" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19890670/dosto-se-parivar-tak-2

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
3 सप्ताह पहले

बेहोश सा होकर ही अब कभी कभी खुद से मिल पाता हूँ,
होश में रहकर मिले तो अरसा हो चला।
और यूँ बेहोशी में भी खुद को कभी कभी अब अनजान ही बताता हूँ,
होश में तो किसी अपने को अपना कहे भी अरसा हो चला।

#बेहोश

और पढ़े
Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
4 सप्ताह पहले

Akash Saxena लिखित कहानी "BOYS school WASHROOM-2" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19890031/boys-school-washroom-2

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
1 महीना पहले

"दोस्ती से परिवार तक - 1" by Akash Saxena read free on Matrubharti
https://www.matrubharti.com/book/19889493/dosto-se-parivar-tak-1

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
2 महीना पहले

Akash Saxena लिखित कहानी "BOYS school WASHROOM" मातृभारती पर फ़्री में पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19888200/boys-school-washroom

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी श्रद्धांजलि
2 महीना पहले

भारत माँ की रक्षा को वो,
अपनी माँ से भी दूर हो जाते हैं,
सर्दी-गर्मी की क्या बात करूं में वो तो प्रलय में भी पहरा देते हैं,
माँ भी उनकी कहती गर्व से,
वो मेरे नहीं,भारत माँ के बेटे हैं।
दिन रात दौड़ कर भी, दाल-रोटी से वो पेट भर लेते हैं,
हमारी चैन की नींद के लिए वो रातों में भी ना सोते हैं।
वो कोई आम इंसान नहीं,
वो भारत माँ के बेटे हैं।
सीने पर गोली खा कर,
भारत माँ की जय वो गुनगुनाते हैं,
और फिर तिरंगा ओढ़ कर वो एक अनचाही नींद सो जाते हैं।
फिर भी अमर जवान की ज्वाला में वो हर पल चमकते रहते हैं,
वो कोई और नहीं,वो भारत माँ के बेटे हैं,
वो भारत माँ के बेटे हैं।

सभी शहीद जवानों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि🙏

और पढ़े
Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी सुविचार
2 महीना पहले

वक़्त रहते वक़्त से प्यार कर लेना,
क्यूंकि वक़्त अगर रूठ कर चला गया न,
तो लाख मनाने से भी फिर वापस नहीं आता।

Akash Saxena बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
2 महीना पहले

Men's are also human...and...they have feelings too...पर हमारा ना दिखने वाला #समाज नहीं समझता🤡

R.I.P #Sushantsinghrajpoot 😢