Hey, I am on Matrubharti!

चोट का गहरा होना लाज़मी था ...
वार अपनो का
ही था...

😢

एक वक्त था जब
तुम थे सिर्फ मेरे ,
रुख़ ऐसा पलटा
वक्त भी बदला
हम आज भी हैं
सिर्फ तेरे,,,

अगर आप उस वक्त भी मुस्करा सकते हैं,
जब आप पूरी तरह टूट चुके हों,

तो यकीन करिये..
फिर दुनिया में आपको कोई तोड़ नहीं सकता।।

🙏 राधे राधे 🙏

और पढ़े

जिस फोन का शुक्रिया अदा करते नहीं थकते थे हम
आज उसी ने हमारे दरमियां दूरियां कर दी...