i am a teacher ,poet and a story writer. i am from barmer Rajasthan.... Born on 13 oct 1997... join me on instagram @official.shubham.36

वक़्त तू कभी न रुकना,
कद्रदानों की है कमी।
वक़्त तू ना कभी थमना,
करना है तुझे हर फैसला।

-Shubham Maheshwari

"Don't ask me anything... I am not supposed to tell that what I am doing nor I have something to tell you about it." Perfect reply ever...

"मुझसे कुछ मत पूछो ... मुझे यह बताने की जरूरत नहीं है कि मैं क्या कर रहा हूं और न ही मेरे पास इसके बारे में बताने के लिए कुछ है।" एकदम सही जवाब ...

-Shubham Maheshwari

और पढ़े
Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
6 दिन पहले

Definitely you are wise if you know that what should say on a particular time.

निश्चित रूप से आप बुद्धिमान हैं यदि आप जानते हैं कि किसी विशेष समय पर क्या कहना चाहिए।

और पढ़े

जब शब्द चुप हो जाए तो समझ लेना,
कि मन में है दबे राज ना चाहूं तुम्हे कहना।

Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
1 सप्ताह पहले

We are trapped between right and wrong or just and unjust. But in all these things we are forgetting our goals or dreams which we had saw in our childhood.

हम सही और गलत या न्यायपूर्ण और अन्याय के बीच फंसे हुए हैं। लेकिन इन सभी बातों में हम अपने उन लक्ष्यों या सपनों को भूल रहे हैं जो हमने बचपन में देखे थे।

और पढ़े
Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
1 सप्ताह पहले

A person loses when he doesn't value time and work.

एक व्यक्ति तब हारता है जब वह समय और काम को महत्व नहीं देता है।

Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
2 सप्ताह पहले

चलो कहानी शुरू करते है,
आओ जरा हिंदी लिखते है।
हां जी हां हमें ये विश्वास है,
हिंदी के लिए समय कहां है?
हर दिन हम लिखते अंग्रेजी,
अंग्रेजी में लिखते है हिंदी।

नहीं कहता कि अंग्रेजी ना सीखो,
सीखो क्या चाहे तुम बोलो।
पर हिंदी को ना भूलना कदा,
यही तो है हमारी जुबान सदा।
हर भाषा जानना हमारा फन है,
पर खुद कि भाषा तो घमंड है।

दर्जा बराबर सभी भाषाओं को,
तो क्यों समझो तुम कम किसी को।
माना पढ़े हो तुम कॉलेज तक,
पर भाषा वही जो समझे सब।
भाषा चयन है बहुत जरूरी,
ताकि दिखे आपकी समझदारी।

और पढ़े
Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
2 सप्ताह पहले

आज तुम सही हो,
पर गलत मैं भी नहीं।
क्यों इतना है सोचना?
कहीं कोई गफलत तो नहीं।

ज़िन्दगी देती है एक पल,
ज़रा सोच लो और विचार लो।
एक पल तो रुक जाओ,
खुद को जरा संभाल लो।

एक पल भी नहीं है लगता,
थोड़ी सी गलती में तो।
बार बार है फिर दुखता,
गलती का वो एहसास तो।

करना फिर तुम इतना,
कि फिर कभी गलती ना हो।
क्या फर्क है फिर पड़ता?
यदि इक पल को तुम सोच लो।
© shubham36

और पढ़े
Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
3 सप्ताह पहले

जीवन को अपने हिसाब से जिएं ताकि #खेद महसूस करने के लिए कुछ भी न बचे। और आप आसानी से कह सकते हैं कि हाँ !! मैंने जो चाहा, मैंने किया।

-Shubham Maheshwari

और पढ़े
Shubham Maheshwari verified कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी प्रेरक
3 सप्ताह पहले

Think it...

-Shubham Maheshwari