मैं नही जानती अपने लिखने की खूबी... पर कोई कहता है मैं अच्छा लिखती हुं. मानवता सर्वोपरि

Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
1 महीना पहले

आजकल

किसी को दुख में देखकर
उसकी मदद के बजाय
मजा लेने लगे हैं लोग

आपके हालात पर
दुख जताकर पीठ पीछे
हंसी उड़ाते हैं वहीं लोग

जीवन बचाने के बजाय
जीवन को खतरे में
डाल देते हैं लोग

ये कैसी मानसिकता है
इंसानियत की जगह
क्रुरता दिखाने लगे हैं लोग

मुझे सुकुन है इस बात की
आज भी इंसानियत के लिए
हाथ बढ़ाते है बहुत लोग

- सोनल सिंह सूर्यवंशी

और पढ़े

आजकल मौसम...
पंखा धीमे हो तो चुर्र चुर्र
तेज हो तो नाक सुर्र सुर्र
बंद हो तो मच्छर भुर्र भुर्र
इन चक्करों में मेरी नींद फुर्र फुर्र 😄😂😂

और पढ़े

असली मोहब्बत में तस्वीर की जरूरत नहीं होती,
जहां आंख बंद किया उसकी ही सूरत दिखती है ।
- सोनल सिंह "सूर्यवंशी"

और पढ़े
Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
3 महीना पहले

आज मेरी पहली कहानी "क्या कहूं" भाग - १ प्रकाशित हो चुकी है। 😊 https://www.matrubharti.com/book/19906911/kya-kahu-1
जय श्री राम 🚩 🙏

Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
3 महीना पहले

"मानवता सर्वोपरि"
- सोनल सिंह "सूर्यवंशी"

Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
3 महीना पहले

पिछले कुछ दिनों से जो लोग पाश्चात्य प्रेम सप्ताह मना रहे थे किन्तु उन्हें वसंतोत्सव के बारे में नहीं पता। उनके लिए मेरी कविता -

पाश्चात्य संस्कृति अपनाओं उतनी
इसकी आवश्यकता हो जितनी

क्योंकि -
आपको मनाना है, हर त्योहार
हिंदू पंचांग अनुसार

बहुतों को तिथि पता नहीं होती
और बहुत को पता नहीं संवत
बस इतना काफी है ये जानने के लिए
भारतीय संस्कृति से आपकी दूरी है कितनी ?

और पढ़े
Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
3 महीना पहले

वसंतपंचमी और #सरस्वतीपूजा की हार्दिक शुभकामनाएं 💐🌹🌷🌺🌸🌻🌼💮🌱🍀🌿

ज्ञान की देवी #सरस्वती का स्वरूप है #शुक्ल । हंस वाहन है। उन्होंने एक हाथ में कमल तो दूसरे हाथ में वेद पुस्तक को धारण किया है।
असल में ये स्वरूप है #ज्ञानीजन का। ज्ञान भी शुक्ल स्वचछ होता है। उसको जानने वाला भी शुक्लता को धारण कर लेता है। #हंस में क्षमता है पानी और दूध में अंतर करने की और वह दूध को ग्रहण करता है और पानी को छोड़ देता है। इसी प्रकार ज्ञानी पुरुष में भी सच और झूठ अलग करने की क्षमता होनी चाहिए। वो सत्य को स्वीकार करें और झूठ को त्याग दें। सारे #वेद का ज्ञान हो फिर भी वह #कमल के पत्ते की भांति कोमलता, विनम्रता लिए हो।

और पढ़े

Mind can change but heart remains constant.

-Sonal Singh

Sonal Singh Suryavanshi कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
3 महीना पहले

मौसम के बदलने की तुलना
न करो इंसान से,
मौसम तो खुद को दोहराता है
इंसान बदल जाए एक बार
वो फिर नजर नहीं आता है।

-Sonal Singh

और पढ़े

जब कोई दुख में गले लगाएं
तुम सुकुन बन जाना 💞💕