lover by nature, writer by mind, singer by heart, indian by soul. जै श्री राम

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 दिन पहले

न जाने तू भी कहां छिप गया बाद्लों मे सूरज की तरह....
जरा दिख जाये तो दिल को गर्माहट मिले...


🖋 सर्वेश सक्सेना

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
2 दिन पहले

हाय, मातृभारती पर इस कहानी 'दो बाल्टी पानी' पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19877861/do-balti-pani

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
3 दिन पहले

➡️

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
3 दिन पहले

कभी-कभी सिर्फ कभी-कभी ...
ऐसा भी होता है ...
कश्ती की गोद में ..
समंदर बड़ा बेसब्री से रोता है ..
खारा पानी उसे फिर पी...
घूंट-घूंट डुबोता है ....
कोई गहरी नींद सोता है ..
बड़ी गहरी नींद सोता है

और पढ़े
Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
4 दिन पहले

हम तो पागल हैं शौक़-ए-शायरी के नाम पर ही दिल की बात कह जाते हैं और कई इन्सान गीता पर हाथ रख कर भी सच नहीं कह पाते है…

और पढ़े
Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
5 दिन पहले

अब नींद से कहो,
हम से सुलह कर ले

के चांद अब,
जमीन पर ना उतरेगा,

खुशबुओं नें जब जिस्म बदला,
तो सावन ने घर बदल लिया ...

और पढ़े
Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कहानी
6 दिन पहले

हाय, मातृभारती पर इस कहानी 'दो बाल्टी पानी' पढ़ें
https://www.matrubharti.com/book/19877861/do-balti-pani

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
6 दिन पहले

कई बार सोचा तुझे अब आवाज न दूँ,
तू मुझे खो देगा फिर ये खयाल आता है।

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 सप्ताह पहले

उसकी यादें कुछ इस कदर सुलगती रहीं मेरे सीने में ....
कब मेरे सारे अरमान जल गए पता हि न चला ....

Sarvesh Saxena verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 सप्ताह पहले

एक तेरे लिए ही सीने में ये सांस बचा के रक्खी है ......
तू आये तो, मेरे हमदम फिर से तेरी खातिर मर जाऊं ....