hX

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
3 दिन पहले

एहसासो के खेल भी बड़े निराले होते है
जिनके लिए होते है उनके ही उलाहने सहने होते है
मोहब्बत की कश्ती कभी पार नही लगती
ओर कही मौत के भी अफ़साने होते है।

-Sakhi

और पढ़े
Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
3 दिन पहले

स्त्री क्या है-----सिर्फ एक साधन
पुरुष के तन और मन को संभालने का
आवेगों और संवेगों की अभिव्यक्ति का
प्रेम के क्षणों में,
मधुर स्मृतियां सहेजने का
क्रोध में अपनी कुंठा निकालने का
मैं को स्वपोषित करने का
मैं ही सर्वश्रेष्ठ हूँ
खुद में ये अहसास जगाने का
मैं भी परमेश्वर हूँ,
जगत का सृष्टा और संचालक
इस आन और मान को
प्रतिपल जगाने का
स्त्री न हो तो ये जीवन,
एक ऐसा पटल है
जिस पर चढ़ता नहीं ,कोई भी रंग है
न प्रेम का ,न समर्पण का
नहीं जागता कोई जज्बा
न सृजन का न विनाश का
बिन स्त्री एक पुरुष का जीवन
जैसे बिन सावन मरुस्थल में यापन
बिन सती ,शिव शंकर का जीवन।।।

-Sakhi

और पढ़े
Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

रब ने पूछा ,तेरी हसरत क्या है
मैंने कहा- करार उसे भी मिले
जो हमें बेकरार कर गया

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

सलीका ही नहीं शायद उसे
महसूस करने का
जो कहता है कि खुदा है
तो नजर आना भी जरूरी है

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

प्रेम में हाँ और ना
दोनों एक ही शब्द हैं
जिन्हें जो जबाब मिला
वो ही बर्बाद हुआ है

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

मुलाकातें तो आज भी होती हैं तुमसे
ख्वाब किसी ताले के मोहताज नहीं होते

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

क्यों हर बात में कोसते हो
तुम लोग नसीब को
क्या नसीब ने कहा था
मोहब्बत कर लो

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

बहुत खूबसूरत सा रिश्ता है तेरे और मेरे बीच
दायरों में बांध,
इसे छोटा न बना
चलती रहो बस साथ मेरे
यूँ ही कदम मिला
अहसासों को अरमाँ न बना

और पढ़े
Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

अपने ही घर में
मेहमान बन जाते हैं
जो लोग परदेश
चले जाते हैं

Sakhi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
1 महीना पहले

कुछ लोगों की मोहब्बत
दिल में इस कदर उतर जाती है,
जब उनको दिल से निकालो तो
जान निकल जाती है