लेखनी मेरा विस्तार ..(3) पुसतकों का प्रकाशन.. "एक मुसाफिर ऐसा भी" बाल ठाकरे,"नस बंदी से नोट बंदी तक"काव्य संग्रह,"विकास पथ नरेन्द्र मोदी"Biography तीनों पुस्तकें"amazon" पर उपलब्ध हैं। ebook.."एक कदम आत्मनिर्भरता की ओर".coming soon new ebook... गजल़

डर का है खेल बेबसी का है जमाना
हर ओर कोरोना नाच रहा देखो.. बनकर दिवाना
---डॉअनामिका

-डॉ अनामिकासिन्हा

मानसिक विघटन,प्रतिशोध व द्वन्द्व युद्ध जैसी परिस्थितियों का परिचायक है और मनोवैज्ञानिक उत्थान स्थूल से सूक्ष्म की ओर जाने का द्योतक है
#जयहिंद

-डॉ अनामिका

और पढ़े

लोग इतने ज्ञानी हो गए हैं कि अपने सारे ज्ञान का उपदेश स्टेट्स में उढ़ेल देतें हैं वास्तविकता यह है कि जिंदगी अब सोशलमीडिया हो गई है.. और वास्तविक जीवन मिथ्या
--- डॉअनामिकासिन्हा

और पढ़े

तुलसी पूजन दिवस की सबको हार्दिक शुभकामनाएँ🙏
२५ दिसंबर
डॉ अनामिका

राष्ट्रीय गणित दिवस की सबको हार्दिक शुभकामनाएँ 🙏🙏🙏🙏🙏🙏

-डॉ अनामिकासिन्हा

सब कुछ बिकाऊ है यहाँ, इंसान,मानवता,यथार्थ, जांचपड़ताल..
अपने मन का रावण जलाओ साथियों फिर विजयदशमी मनाओ साथियों
डॉ रीना
डॉ अनामिका सिन्हा

और पढ़े

कर्म क्या है ? व्यक्ति का वर्तमान है...
भूतकाल क्या है? व्यक्ति का अरमान है. भविष्य क्या है? इंसान की पहचान है
डॉरीना

-डॉ अनामिकासिन्हा

और पढ़े

फैसला करने वालों ने भूतकालिक विवादों पर सही से फैसला किया होता..
तो आज संसार इतनें मुल्कों में न बिखरा होता .
डॉरीना

-डॉ अनामिकासिन्हा

और पढ़े

ईश्वर का वास्ता देने वाले स्वयं डरे हुए जीवात्मा होतें हैं
डॉरीना

-डॉ अनामिकासिन्हा

भूतकाल में घटी हुई घटनाओं को जो याद रखें वो महान है बाकी सब बेइमान है
डॉरीना

-डॉ अनामिकासिन्हा