करूं शब्द-शब्द मैं प्रीत की बातें, हाँ तुम मेरा आधार पिया, मैं जोगन कभी बैरागन बनती, और तुम मेरा संसार पिया।~ रूपकीबातें (Introvert Writer)

Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
2 दिन पहले

अधिकांशतः आप किसी से प्रेम तो करते हैं,
मगर उस शख्स से कहते नहीं..
ना कहने के पीछे अनेक कारण होते हैं..
मगर मेरा मानना है.. कह दीजिए..
क्योंकि करोड़ों की भीड़ में जब आपको किसी एक से प्रेम हो जाए, तो कहने के लिए इससे बड़ी और क्या वज़ह होगी।
जीवनभर के अंतर्द्वंद से बेहतर है जिसे पसन्द करते हैं, उसे साफ-साफ कह दें।
हाँ, मुश्किल ज़रूर है, मगर ग़लत नहीं..
क्योंकि प्रेम करना कभी ग़लत नहीं होता।
~रूपकीबातें
Insta- Roop_ki_baatein
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
3 दिन पहले

वो जो जीवन भर चार लोगों का डर दिखाया जाता है। वह चार लोग जो बहुत चिंतित होते हैं, आपके हर एक निर्णय को लेकर।
क्या वह चार लोग अर्थी को काँधा देने आते हैं।
मेरे विचार से.. नहीं!
बताया था ना, मेरा स्वभाव जिज्ञासु है। मगर आप जवाब मत देना, मुझे कभी-कभी बातों का अंत नहीं भाता।
#रूपकीबातें
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein
Insta- Roop_ki_baatein

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
4 दिन पहले

सुनो,

कभी-कभी कुछ अनचाही घटनाएं यादें बन जाती हैं..
कुछ घटनाएं प्रेम की वज़ह बनती हैं तो कभी कुछ शब्द..
जैसे एक अनजान इंसान से पहली बार कहे गए मीठे शब्द आपको हमेशा याद रहते हैं।
वो शब्द महज़ शब्द नहीं रहते बल्कि वो बन जाते हैं किसी मजबूत रिश्ते की नींव..
ऐसे ही मेरे प्रेम की नींव तुम हो.. और तुम्हारी नीली शर्ट का वो बेख़बर धागा..

वैसे तो तुमसे जुड़ा अच्छा-बुरा हर एक पल मुझे मेरे प्राणों से ज़्यादा प्रिय है.. ऐसे ही प्रिय है मुझे वो टूटी चूड़ी वाला पल..
जिस पल मेरी कलाई में खनक रही एक पागल चूड़ी का आधा हिस्सा तुम्हारी शर्ट के किसी धागे में टूट के अटक गया।
जैसे विधाता ने बड़ी ही मजबूती से बांध दिया हो उसे, केवल एक कच्चे से महीन धागे से।

मुझे वो चूड़ी बहुत प्रिय थी, मगर ना जाने कब किस तरह वो मेरी लापरवाही से चटक गई।
बहुत दुःख हुआ था मुझे..
बहुत दुःख..
मगर, मैंने उसके चटकने पर भी उतारा नहीं..
फिर, उससे भी ज़्यादा दुःख तब हुआ जब मैं तुमसे टकरा गई और वो चटक चुकी चूड़ी.. बड़ी फुर्सत निकाल तुम्हारी नीली शर्ट के किसी बेख़बर से धागे से उलझ पूरी टूट गई..

हाँ माना तुम्हारी ग़लती नहीं थी, मेरी थी..
वो हमारी पहली अनचाही मुलाक़ात थी। हम दोनों ही अंजान थे।
जहाँ तुम अपने में व्यस्त जा रहे थे बड़ी तल्लीनता से..
और मैं..
मैं ही तुम्हें मेरी पसन्द के नीले रंग में देख, बस देखती रही.. और अनजाने में टकरा गई..
बहुत गुस्सा आया था मुझे तुम पर, तुम्हारी नीली शर्ट पर, और उस धागे पर..

मगर अब जब भी उस पल की याद करती हूँ तो गुस्सा नहीं इश्क़ होता है तुमसे, तुम्हारी नीली शर्ट से और उस नन्हे महीन धागे से..

जिसकी वज़ह से मैं आज तुम्हारे ही नाम के किस्से लिख रही हूँ..
❤️❤️
~रूपकीबातें
Insta - Roop_ki_baatein
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
6 दिन पहले

कहीं दूर से मेरी हंसी की आवाज़ से हंस पड़ता है,
मुझको वो मेरी जान से प्यारा लगता है।
वो थक के चूर होता है, जब काम से घर आता है,
मगर इम्तेहान मेरे होते हैं, और वो मेरे साथ रात भर जागता है।।

बड़ा ही निःस्वार्थ है, बड़ा ही दयालू है,
वो जानता है मगर, कब कौन उसको ठगता है।
वो पिता है बस इसलिए मुझे पाँव छूने नहीं देता,
वरना सच कहूँ तो, वो मुझको ख़ुदा सा लगता है।।
~रूपकीबातें
Insta - Roop_ki_baatein
#roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop #रूपकीबातें

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी विचार
1 सप्ताह पहले

मेरा हाल पूछने वाले,
केवल सवाल करते हैं।
जवाब सुनने का उनको वक़्त नहीं।
#रूपकीबातें
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein

Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी कविता
1 सप्ताह पहले

सुनो, उनको मत दो इल्ज़ाम बेवफाई का,
तुम मेरे नाम से कभी उनको तंग ना करना।
खुली रहेंगी मरकर भी आँखें मेरी,
जब तक वो आ ना जाएं उन्हें बंद ना करना।।

ये मेरे और उनके बीच की लड़ाई है,
उन्हें मोहब्बत से बेधड़क मुकरने देना।
अगर वो आ जाएं तो बस उन्हें मेरे करीब ले आना,
आख़िरी बार मेरी आँखों में उनकी सूरत उतरने देना।।
Insta - Roop_ki_baatein
#रूपकीबातें
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
2 सप्ताह पहले

सुनो ,,
जब गहरी रात होगी ना, और मुझे नींद नहीं आएगी..
जब हम बिछड़ चुके होंगे, तो बस एक बार तुम मुझसे मिलने ज़रूर आना..
मैं तुमसे एक आख़िरी बार मिलना चाहती हूँ..
तुम्हारे हाथों पर एक आख़िरी बार अपनी उंगलियों से मेरा नाम उकेरना चाहती हूँ।
तुम्हें करीब से देख ख़ुश होना चाहती हूँ।
सुनो..
तुम वैसे ही आना जैसे मेरी ज़िंदगी में आए थे, दबे पाँव, बिना किसी शोर के।
मुझे, तुमसे मोहब्बत ना हो बहुत चाहा मैंने, मगर कभी-कभी लगता है जैसे सब तय था.. तुम्हारा मेरी ज़िंदगी में इस तरह अचानक आना भी तय रहा होगा..।

तुम्हें खबर नहीं मगर तुम मेरी पसंद की गहरी नीली शर्ट पहने हुए थे। तुम, थोड़े गंभीर और स्वभाव में शांत..। हड़बड़ी में काम करते हुए तुम अचानक ही मेरे सामने आ गए, और फिर एक तुम्हारे सिवा जैसे सब कुछ रुक गया, और खामोशी पसर गई, मगर तब भी मैं तुम्हें सुन रही थी.. और यकीन मानो जब तुम सामने आते हो तो मैं सिर्फ़ तुम्हें सुनती हूँ, जैसे किसी और की आवाज़ मेरे कानों तक आती ही नहीं।

तुम क्या हो मेरे लिए, ये मैं ही जानती हूँ क्योंकि तुम्हें पूरी तरह से शब्दों में ढालने का हुनर मुझे कभी आया ही नहीं। तुम मेरे हर काम पर नज़र रखते थे, कभी-कभी तुम होते भी नहीं थे और लगता था तुम हो.. और दूर कहीं से मुझे देख रहे हो।
मैं अपने ही सवालों में उलझी रहती हूँ, और तुम हो सुलझे हुए, जिसके पास मेरी भी हर समस्या का समाधान है।

जब आख़िरी बार मिलने आओ, तो वैसे ही आना, मेरी पसन्द के गहरे नीले रंग को पहने.. सुलझे हुए, गंभीर और शांत स्वभाव से।
मैं तुम्हें बिछड़ने से पहले इन आँखों में भर लेना चाहती हूँ। जी भरकर देख लेना चाहती हूँ.. फिर ज़िंदगी तुम्हें मेरे सामने लाए ना लाए.. फिर मेरे नसीब में तुमसे बात करना हो ना हो।

सुनो..
तुम थोड़ा ठहर जाओ ना..
वक़्त की रफ्तार पकड़े तुम भी मेरी ज़िंदगी से निकलते जा रहे हो। ये वक़्त नहीं रुकता मेरे लिए, मगर तुम ही रुक जाओ। अब जब तुम्हें रोकने तुम्हारी शर्ट के कोने को पकडूं तो मुझे बातों में बहला मेरा हाथ छुड़ा.. तुम जाना मत।
तुम्हें ठहरने को कहूँ तो फिर आने का कोई झूठा वादा मत करना।
सुनो..
बस तब तक के लिए ठहर जाना, जब तक तुम्हारी तस्वीर मेरी आँखों से दिल में नहीं उतरती।
फिर नसीब कभी मिलाएगा नहीं और मैं तुमसे मिलना चाहूँगी भी नहीं।
क्योकि मैं ईश्वर नहीं, इंसान हूँ।
तुम्हें देख मुझे बेचैनी होने लगती है, दर्द होता है दिल में।
सच कहूँ तो तुम्हारी महज़ तस्वीर देखने से ही मेरे दिल में टीस उठती है।
सुनो,
तुम ठहर जाओ ना..
शायद मैं ये फिर कह नहीं पाऊँगी.., वैसे ही जैसे कभी यह कह नहीं सकी.. की मैं तुमसे बेहद मोहब्बत करती हूँ।
💔💔
#रूपकीबातें ##roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी विचार
2 सप्ताह पहले

मैंने जब भी उसे पलटकर देखा,
वो कभी पलटा नहीं....
जाते हुए एक आख़िरी बार मैंने उसे पलट कर नहीं देखा,
मुझमें हिम्मत नहीं थी भरम तोड़ने कि..
" कि वो शायद मुझे देख रहा होगा"।
#रूपकीबातें
#roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले

जब तक ज़ख्म भर ना जाए,
मैं तब तक सोना चाहती हूँ।
उसके गले लग, उसकी ही शिकायत करके,
मैं जी भर कर रोना चाहती हूँ।।
💔
Insta - Roop_ki_baatein
#रूपकीबातें
##roopanjalisinghparmar #roop #roopkibaatein

और पढ़े
Roopanjali singh parmar verified बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
2 सप्ताह पहले

लोग मुस्कुराते हुए अच्छे लगते हैं ना??
हमें भी मुस्कुराहट पसन्द है.. बहुत पसंद।
अच्छा कुछ लोग तो ज़्यादा ख़ुश होने पर रोने लगते हैं। उन कुछ में हम भी शामिल हैं और यह स्वीकार करने में हमें कोई समस्या नहीं है। क्योंकि हमारे अनुसार ये जीवन के सबसे ज़्यादा ख़ूबसूरत पल में से एक होता है।

क्या आपने कभी कोशिश की है किसी को मुस्कुराने की वज़ह देने की..? अचानक किसी के सामने जाकर उसे सरप्राइज़ दे ख़ुश करने की..? जिनकी फ़िक्र है उनका हाल चाल जानना चाहा कभी..? कभी किसी के दुःख में शामिल हो अपना सहारा दिया है..?
क्या कभी किसी को बेवज़ह ही कह दिया है " यार तुम्हारा साथ पसंद है".. या, "फ़िक्र मत करो मैं हूँ ना"..?
क्या कभी किसी से बेवज़ह ही कहा "तुम ख़ूबसूरत हो"..? क्या कभी घर के किसी सदस्य को कहा तुम मेरे पसंदीदा इंसान हो..?
यह सब कितना मुश्किल है ना.. मगर हमारे अनुसार जो दिल को भाता है उसे बताने में, या अपनों को प्यार जताने में संकोच क्यों..?

जानते हो, किसी अपने से दिल की बात कहना इतना मुश्किल क्यों है.. क्योंकि इसे मुश्किल हम सबने ही बनाया है.. हम सभी गुस्सा जताना जानते हैं, मगर प्यार जताना नहीं। लापरवाही दिखानी आती है, परवाह नहीं।

ये जो चंद लफ्ज़ हैं 'i love u'.. ये परिवार के लिए कितने कठिन हो जाते हैं, मुँह से ही नहीं निकलते।
प्यार जताना तो छोड़िए, किसी अपने को 'i miss u' कहना ही मुश्किल है।

चलिए आज मुस्कुराहट की वज़ह बनते हैं..
तो हमारा कहा मानिए अगर तो आज एक मैसेज टाइप करिए सिर्फ़ 'i love you' और इसे बेझिझक अपने दोस्तों, बहन, भाई, माँ, पापा जी या उन सभी को भेज दीजिए जिन्हें आप प्यार जताना चाहते हैं।
यकीन मानिए अधिकांश लोग कॉल करेंगे आपको।
और फिर जो मुस्कुराहट आपके चेहरे पर आएगी ना उसे हमसे साझा ज़रूर करना।
🌸💖
~रूपकीबातें
Insta - Roop_ki_baatein
#रूपकीबातें #roopkibaatein #roopanjalisinghparmar #roop

और पढ़े