Hey, I am write on matrubharti..

मिलता तो बहुत कुछ है
इस ज़िन्दगी में
बस हम गिनती उसी की करते है,
जो हासिल ना हो सका...☺️☺️

और पढ़े

देश में "राजा"
समाज में "गुरु"
परिवार में "पिता"
घर में "स्त्री"
ये कभी "साधारण" नहीं होते
क्योंकि
निर्माण और प्रलय
इन्हीं के "हाथ" में होता है !!

और पढ़े

अक्षर अक्षर हमें शिखाते,
शब्द शब्द का अर्थ बताते,
कभी प्यार से कभी डांँट से,
जीवन जीना हमें शिखाते।

Happy teacher's day...

और पढ़े

जिवन एक यात्रा है।
इसे जबरदस्ती तय न करें।
इसे जबरदस्त तरीके से तय करें।

नन्हे से दिल में अरमान कोई रखना,
दुनिया की भीड़ में पहचान कोई रखना,
अच्छे नहीं लगते जब रहते हो उदास,
अपने होंठों पर सदा मुस्कान बनाए रखना.

और पढ़े

दूर कहीं क्षितिज पे सूरज ढल रहा है
यानी फिर किसी दरिया का दिल जल रहा है!!

सफर में हुँ,
एक सफर की
तलाश में,
अगर मिल जाएं वो
सफर..
तो एक नया सफर
होगा....

"कल तक उड़ती थी जो मुँह तक,
आज पैरों से लिपट गई...

चंद बुंदे क्या बरसी बरसात की,
धूल की फि़तरत ही बदल गई ।।"

और पढ़े

गुजर गया आज का
दिन भी यूं ही बेवजह
ना मुझे फुरसत मिली
ना तुझे ख़्याल आया..!!

"आग लगी जब घर में
तो उसने पूछा बचा क्या है..?
हमने कहा कि हम
तो उसने कहा फिर जला क्या है..."