Hey, I am on Matrubharti!

Pranav Vishvas कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी विचार
8 महीना पहले

कभी रात की हसीन ख़ामोशियों को भी महसूस किया कीजिए,
हज़ारों धड़कन ए बिना कुछ कहे गुफ्तगू किया करतीं हैं.!