×

नीलिमा शर्मा निविया संपादक कवियत्री लेखिका है,हिन्दयुग्म से प्रकाशित "एक मुट्ठीभरअक्षर" सांझा लघुकथा संग्रह का संपादन, मातृभारती पर प्रकाशित हिंदी साहित्य के साँझाउपन्यास "आईना सच नही बोलता"की कथानक लेखिका संपादन संयोजन, वनिका प्रकाशन से प्रकाशित सांझा प्रेम कहानी संग्रह "खुसरो दरिया प्रेमका " का संपादन सहलेखन , 40 सांझा संग्रहों में कविताएं लघुकथा कहानी प्रकाशन .

बातें और रातें
तुम बिन उदास सौगातें

मुझे ख़बर थी, वो मेरा नहीं पराया था
पर धड़कनों ने उसी को मेरा ख़ुदा बनाया था!!

IKK SONDHI SI KHUSHBU..
HAI FIZAAON MEIN BIKHARI HUI..
LAGTA HAI TU YAHIN HAI ..
IN HAWAAON MEIN

Dekho !!
is hariyaali mein
basti hain meri sanse
concreate ke jungle mein
sans to aati hain
jiyaa nhi jata
jee bhar kar

A view of Dehradun From Maggi Point

फीकी फीकी मुस्कुराहट है
रतजगे के आँसुओ के निशान
क्या कुछ बाकी है अभी भी
तेरे मेरे शिकवों के दरमियान

शर्तें इतनी भी मत रखना
कि
ज़िन्दगी इस मलाल में गुज़रे
तुमसे कभी हम भी जुड़े थे !