आप ओर आप कि यादे हमे लिखने को मजबूर कर देती है

कुछ रिस्ते एसे होते है जिसमे ईंसान अच्छे लगते है,
ओर कुछ ईंसान एसे होते है जिनसे रिस्ता अच्छा लगता है,,
जैसे की आप़
Good morning

और पढ़े

सामने ना हो तो तरसती है आंखे...
बिन आपके बहुत तरसती है आंखे..
मेरे लिये ना सही ईन के लिये सायरी करो...
क्योकि आपकी सायरी बडे प्यार से पढती है ये आंखे...

और पढ़े

मेरे आसूँ को पूछ कर कोई ये तो बता दो मुझे
रुलाने वाला ही अक्सर क्यू याद आता है इतना

तुम्हारी याद ऐसे महफूज है मेरे दिल में
जैसे किसी गरीब ने रकम रख्खी हो तिजोरी में

औरतो को देने वाले उपहार में सबसे बेहतरीन उपहार है उसका
आदर करना, जो हर को ही नसीब नहीं होता.

भरोसा रखो हमारी दोस्ती पर
हम किसी का दिल दुखाया नही करते
आप और आपका अंदाज़ हमे अच्छा लगा
वरना हम किसी को दोस्त बनाया नही करते
शुभ प्रभात

और पढ़े

यूँ नजरो से आपके बात की और दिल चुरा ले गए
हम तो समझते थे अजनबी आपको
पर दे कर बस एक मुश्कुराह्ट अपनी
आप तो हमे अपना बना गए

और पढ़े

जरूरी नही की नजदीकियों में ही प्यार हो
फसलो में भी इश्क की बुलंदियाँ देखि है हमने

अभी ओढ़े फिरता हूँ तुम्हारी याद की चादर
तुम्हारे कौंधो पर यादो की साल आये तो लौट आना

किसी रोज़ होगी रोशन, मेरी भी ज़िंदगी..
इंतज़ार सुबह का नही, किसी के लौट आने का है