केम छो. नमसते, राम राम, अस्सलामु वालेकुम, केम ना छो. सश्रिया काल. मित्रो हम है आपके प्यारे से लेकख महोदय श्री मेहुल पसाया. और मे इंडिया, गुजरात, दाहोद से बिलोंग करते है. और मेरे इस डेस्क पर आपको कई तरह की रचना मिल जायेगी बस पढ्ने के लिये मेरे साथ जुडे रहे. और हमारा ऐसे ही उत्साह बढ़ाते रहे. ताकी हम वैसी ही रचनाये/नॉवेल्स लाये जैसे आपको पसंद है. और उमीद करेंगे मेरि ये सारी रचनाये/नॉवेल आपको पसंद आये. आप सभी के लिये मेरि तरफ से कुच ये जानकारी दी जो की जरुरी थी.

।। ये हवाए आती कहा से है
ये हवाए आती कहा से है ।।

♡ ये मेरे दिल को छू कर मेरे इस देश के इन तिन रंगो से मिल कर आती है ♡

।। ये अजीब अजीब सुंदर सुंदर सी आवाजें आती कहा से है
ये अजीब अजीब सुंदर सुदंर सी आवाजें आती कहा से है
।।

♡ ये मेरे दिल को छू कर मेरे इस देश के इन तिन रंगो से मिल कर आती है ♡

।। ये महक जैसी खूबसूरत सुगंध कहा से आती है
ये महक जैसी खुबसूरत सुगंध कहा से आती है ।।

♡ ये मेरे दिल को छू कर मेरे इस देश के इन तिन रंगो से मिल कर आती है ♡

।। ये खुबसूरत से अन देखे से नज़ारे क्या कह कर जाते है
ये खुबसूरत से अन देखे से नज़ारे क्या कह कर जाते है ।।

♡ ये खुबसूरत से अन देखे से नज़ारे हमे ये कहते है. ओ प्यारे एक बार तो दिदार कर. कभी हमारा नज़ारा भी तो देख. जाने माने नज़ारे तो बहुत देखे ए-प्यारे-यहा से मूड़ ना आसान नाही माने जाते ♡

- Mehul Pasaya

#Independence

और पढ़े
Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
1 सप्ताह पहले

🙏शुभ प्रभात🙏

📍एवं📍

इस दोस्ती के दिन पर आप सभी व्यक्तियों को मेरि. और से बहुत बहुत बधाईयां और सुभकामनाएँ सतर्क रहे. और सुरक्षित रहे. और अपने आस पास के लोगो को सुरक्षित रखे.

कुच दोस्त हमेशा एक दुसरे की जान रह्ती है. दोस्त पर तो क्या ही कहा जाये. जितना कहा जये उतना ही कम है. दोस्तो के कई सारे ऐसे ग्रुप है जो की उस पता लगता है. की वो कितना गहर है. आप लोगो ने ऐसा कई सारे किस्से देखे होंगे. और सुना होगा. वो आपने दोस्त के लिए कुच भी करने के तैयार हो जाते है. चाहे वक़्त रात का हो या दीन का हो...

एक दोस्त हमारा खयाल रख सकता है. तो वो ज़िंदगी भर साथ दे सकता है.

एक दोस्त हमारा मनोरंजन बन सकता है. तो हमारा भी पुरा पुरा हक़ बनता है. की हम भी उनका मनोरंजन करे.

एक दोस्त हमे कभी कबार हमे धोका दे दे तो ये नही समझना चाहिये. की वो अब धोके बाज़ है. वक़्त ऐसा ऐसा आता है. की वो दोस्त खुद वापस आकर खुद अपनी गलती स्वीकार करेगा.

लेकिन लेकिन आप आब से मेरा एक सवाल है. क्या दो दोस्त कभी किसी के लिए अपनी दोस्ती के लिए कोम्परमाइज करने के लिए तैयार रहते है?

बहुत पुराना सवाल है. पर अगले ज़माने की और इस ज़माने की बात अलग है.

तो इनबॉक्स मे जवाब जरुर देना.

थैंक यू ऑल

हैप्पी फ्रेंड्सशिप डे

#Friendship

और पढ़े

शहर मे अगर सांज ना हो तो वो शहर कैसा,

शहर मे अगर देर रात मे, और देर रात तक दंगे फसाद नही होंगे तो इस शहर का पुलिस स्टेशन कैसा,

शहर मे अगर टहल ने वाले लोग ना हो तो शहर कैसा,

वैसे ही इस शहर मे कुच प्यार करने वाले लोग नही होंगे तो ये ऐसी शहर की सांज कैसी.

और पढ़े
Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 सप्ताह पहले
Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी ब्लॉग
3 सप्ताह पहले

beautiful look

-Mehul Pasaya

Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी रोमांस
4 सप्ताह पहले
Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया English ब्लॉग
4 सप्ताह पहले

Lovely moment

blog no. 04

epost thumb
Mehul Pasaya मातृभारती सत्यापित कोट्स पर पोस्ट किया गया English धन्यवाद
4 सप्ताह पहले

some times in I will grow no. top on but now #06 but not bad I like it and I really thank full you all of... thank you so much my dear community...

-📍Mehul Pasaya🔖

epost thumb