Hey, I am reading on Matrubharti!

http://healwithmanu.blogspot.com/2019/08/blog-post_24.html
एक कदम प्रकृति की ओर

✍️
सताते ही ना तो मनाते ही कैसे,
तुम्हें अपने नजदीक लाते भी कैसे?
भले ही!
आपके सताने/मनाने के चक्कर में
किसी की जान ही निकल जाए।
अरे भाई!
कुछ अच्छा भी कर के देख लेते!

और पढ़े

खुद को जीवित समझते हो तो गलत का विरोध करना सीखो।
क्योंकि, लहरों के साथ लाशें बहती हैं, तैराक नहीं।।
MV

और पढ़े

✍️
कहीं भी ना हो पाए दंगा,मेरी यह छोटी सी आशा।
घर घर में लहराए तिरंगा,नहीं चाहिए दोगली भाषा।
सूना ना हो मां का आंचल,बहनों के सपनों की आशा।
ना रीते नैनों का काजल, सैनिक की यही अभिलाषा।
MV

और पढ़े

#अकड़
इस शब्द में कोई मात्रा नहीं है,
फिर भी
अलग अलग मात्रा में सबके पास है।

(भाषा की मर्यादा तो होनी ही चाहिए, वो भी किसी की बहन बेटी हैं, इस तरह के मजाक ना करें) ना कश्मीर की बेटी की तमन्ना ना हमें प्लॉट चाहिए, दुआ है अब किसी फौजी भाई का शरीर तिरंगे में लिपटकर नहीं आना चाहिए।

और पढ़े

न हाथ थाम सके, न पकड़ सके दामन
बड़े करीब से उठकर चला गया कोई...

@अज्ञात

✍️
परिवार या संगठन (ग्रुप)सब
की सफ़लता का एक ही राज़ है।
एक दूसरे के विचारों को सुनना और सम्मान देना।

हे ईश्वर! मेरी दुआओं में असर इतना रहे,
आपका का वरदहस्त हम पर बना रहे,
दुख का साया भी छू ना सके तुम को,
खुशियों का दामन खुशियों से भरा रहे
जन्मदिन शुभ हो मेरी प्यारी दीदी।
🎂💐🌹💐MV

और पढ़े