!! - ॐ नमः शिवाय - !!

Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 साल पहले

वैष्णव जन तो तेने कहिये जे ', गुजरात के संत कवि नरसी मेहता द्वारा रचित यह भजन है जो महात्मा गाँधी को बहुत प्रिय था। इस भजन का एक-एक बोल गाँधीजी के जीवन पर खरा उतरता है, अगर कोई सांमने वाला आपको बार-बार नुकसान पहुँचा रहा है तो आप क्या करोगे ? गाँधीजी की सोच पर चलोगे? उससे प्यार से पेश आहोगें ?

आज का जमाना है, जैसा वो है, वैसा मैं हु
लवर का जमाना है, प्रेम वो है, वैसा मैं इश्क हु

शायद यही कारण रहा होगा, गोड़से ने सोच समझकर ही सही कदम उठाया होगा !!

और पढ़े
Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 साल पहले

शीर्षक :- मैं मौन रहू या उन्हें कह दु
भाव :- प्रेम


मैं मौन रहू या अब उन्हें कह दु !
क्या करु ? यकीन करो,
जब उनके करीब कोई ओर आता है
मेरे अंतर्मन में द्वेष उत्पन्न होने लगता है !!

काव की कौ-कौ बड़े चाव से सुनने लगा हु !
इसमे मेरा क्या दोष ? शुरुवात तो उन्होंने की थी,
मैं कहा वाफिक था, गुस्ताखी में दिल हार जाएगा
ढाई अक्षर का हर्फ़ जहन में धूल-मिल जाएगा !!

सूझबूझ खोए बैठा हु, उनके निच्छल प्रेम में !
मैं तो बिन नीर डूब रहा हु, उनके कपोल खड्डों में,
क़दाशित, प्रेम में मित्रता का बलिदान हुआ तो
मेरा अंतर्मन झकोर रहा है, मैं मौन रहू या अब उन्हें कह दु !!

उनकी भीगी लटो की हिमाकत तो देखो, बार-बार माथे पर चुम्बन कर रही है !
वो कुदरत का सातवाँ करिश्मा है, लबों की तो बात ही निराली है
उनके पहरे से ताकते नयन, मानो क्षितिज का सूरज खिल रहा हो !!

मैं मौन रहू या कह दु !
बन्द लफ्जो में लिफ़ाफा छोड़ दु, या तार कर दु,
क्या करु ? दिल ही उधेड़ हु, ताना-बाना वो गूथ लेगे
बैचैनी अब बर्दास्त नही होती, किट-पतंग का जलना तो अब तय है !!

मैंने पहली दफा देखी है, यौवन की बारिस को
भीगना तो तय है, पर दिल की जमी को या अक्षु से रीझना तो तय है
तड़प है, बैचेनी है, जुनून है, पर मुझमे पागलपन तो नही है !!

#kavyotsav

और पढ़े
Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी पुस्तक समीक्षा
2 साल पहले

शब्दो का मायाजाल

ur poem is superb..
https://www.matrubharti.com/book/19857650/

Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 साल पहले

'Mangi ( शब्दो का मायाजाल )', read it on Matrubharti :
https://www.matrubharti.com
Read unlimited stories, poems, articles in Indian languages for FREE!

Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी वोट्सेप स्टेटस
2 साल पहले

एक आखिरी खत Selfish के नाम..
http://mangi4444.blogspot.com/2018/02/selfish.html

Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
2 साल पहले
Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी पुस्तक समीक्षा
3 साल पहले

पारिजात-एक अभांगी लड़की

really I have no Word's for this story
http://matrubharti.com/book/11226/

Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी सुविचार
3 साल पहले
Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी शायरी
3 साल पहले

"यादगार सफर", को मातृभारती पर पढ़ें :
https://www.matrubharti.com
भारतीय भाषाओँ में अनगिनत रचनाएं पढ़ें, लिखें और दोस्तों से साझा करें, पूर्णत: नि:शुल्क

#M @n6i

और पढ़े
Mangi बाइट्स पर पोस्ट किया गया हिंदी पुस्तक समीक्षा
3 साल पहले

मेरे शब्द

Nice
http://matrubharti.com/book/11105/