Hey, I am on Matrubharti!

बुद्ध के विचार-
शांति अपने अंदर है

epost thumb

सच्चा प्रेम- मजनु लैला का दीवाना था। एक बार राजा ने मजनु से कहा क़ि लैला तो बिल्कुल सुंदर नही है क्यों उसके पीछे पागल हो मै तुम्हे एक से एक सुंदर स्त्रीया उपलब्ध करा सकता हूँ। तब मजनु बोला कि लैला को समझने के लिये तुम्हे मजनु के नेत्रो की जरूरत है। तभी तुम समझ सकते हो कि लैला मेरे लिये क्या है।

और पढ़े

समर्पण हमेशा कीजिये, सभ्य मानव के प्रति।
जिसके प्रति समर्पण होता, वैसी होती गति।

सिद्धार्थ की करुणा।

epost thumb

कितने आश्चर्य की बात है कि वेदों की बहुत सी ऋचाये स्त्रियों ने लिखी है। वह लोपमुद्रा, अपाला, यमी, शश्वती, मेधा इत्यादि थी। आगे चलकर वेदों को स्त्रियों के पड़ने पर की रोक लगा दी गई।

और पढ़े

सीरियल जय हनुमान- मधुर धुनि।

epost thumb

गौतम बुद्ध का अनमोल ज्ञान।

epost thumb

मै जब भी अशांत या दुखी होता हूँ अपने प्रभु श्री कृष्ण की अमृत वाणी भगवतगीता सुनता हु। देखता हु।

epost thumb