Hey, I am on Matrubharti!

pm

मां

अंधेरी रात

अच्छे मित्र

परिवार

वंदे मातरम्

मोदी रे

परिवार
जिस धरा में हमने जन्म लिया
उसको नमन है
परिवार एक धर्म है
घर एक मंदिर हैं
चलो भगवान से मिलाता हूं
मात पिता के जैसा दुनिया में कोई खजाना ना होगा
दादा दादी जैसा कोई दीवाना ना होगा
भाई बहन जैसी कोई मोहब्बत ना होगी
बच्चों से किलकारी गूंजता
वह गीत पुराना ना होगा

और पढ़े

पूजा का दीपक बिन बाले खुद जल जाते है
मां का आना घर भर को मालूम चल जाता है
रोशनी दीपक मे कहां
जो मां की कोख से जन्मे है
वो शेर दुनिया को पता चल जाते है

और पढ़े

पूजा का दीपक बिन बाले खुद जल जाते है
मां का आना घर भर को मालूम चल जाता है
रोशनी दीपक मे कहां
जो मां की कोख से जन्मे है
ऐसे शेर दुनिया को पता चल जाते

और पढ़े