Hey, I am on Matrubharti!

गुरु हमारे माता-पिता हैं
गुरु हमारे चंदा सूरज
गुरु हमारे धरती आकाश गुरु हमारे ब्रह्मा विष्णु
गुरु हमारे नदियां पर्वत
है नमन उनको जिनके ज्ञान प्रकार से यह चमका
गगन है

और पढ़े

follow me

ऑफिस से भीग जाना जरूरी है एक कड़क चाय भी आज जरूरी है

कागज की कश्ती
मौसम की मस्ती
तुम्हारा भीग जाना जरूरी है
ले लो भाई छाते
बारिश के मौसम में जरूरी है

ले लो भाई छाते अब बरसात जरूरी है बदल रहा है मौसम धीरे धीरे बरसात जरूरी है
रिमझिम रिमझिम बरस रहे बादल
धरा की प्यास मिटाना जरूरी है
ले लो भाई छाते बरसात जरूरी है

और पढ़े

safety first zindagi most

अच्छे कर्म इंसान को
बिना सिंडी के स्वर्ग पहुंचा सकते हैं

मां के बारे में क्या लिखूं
माने तो खुद मुझे लिखा है

कागज की कश्ती पर
समुंदर की मस्ती पर
भरोसा कर गया मैं
एक बेवफा लहर से प्रेम कर गया मैं
तूफान भी आया
थोड़ा डर गया मैं
इरादे नेक थे मेरे साहब बच गया मैं

और पढ़े